बबिता की मस्त चूचियां

desi kahani हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है, में IInd ईयर अंडरग्रेजुयेट स्टूडेंट हूँ। अब में आपको अपने बारे में बता दूँ, मेरी हाईट 6 फुट है और मेरे लंड का साईज़ 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। अब में आपको अपनी पड़ोस वाली बबिता के बारे में बताता हूँ, बबिता को में आंटी कहता था, उसकी गांड बहुत बड़ी है, उसकी चूची भी बहुत बड़ी है, आप दोनों हाथ से नहीं पकड़ पाओंगे। उसके एक बेटी भी है, जिसका नाम कविता है और वो भी बहुत सेक्सी है। अब में सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ ये बात तब की है जब गर्मी का मौसम था और में अपने घर की छत पर पढ़ रहा था। उस टाईम में 12वीं क्लास में था, हम दोनों की छ्त एकदम सटी हुई है, में आंटी को कभी ग़लत नज़र से नहीं देखता था। उनके पति बहुत सीधे थे और वो एक टीचर थे, तो कभी-कभी में पढ़ने उनके घर चला जाता था।

एक बार जब में उनके घर गया तो मैंने देखा कि वहाँ कविता नहीं है और आंटी खाना खा रही थी। फिर उन्होंने मुझे बताया कि अंकल के फ्रेंड की मौत हो गई है और वो उसी के घर गये है, फिर में वही बैठ गया। फिर आंटी मुझको बोली कि अब तुम घर जाओ, एक्च्युयली मेरे घर में कोई नहीं था इसलिए में वहीँ रहना चाहता था। फिर आंटी ने फिर से मुझे बोला कि तुम अपने घर जाओं, तो में बेमन से उनके घर से बाहर निकला और अपने घर में घुसने ही वाला था कि मैंने देखा कि 3 आदमी आंटी के घर में घुसे। वो तीनों आदमी बहुत लंबे चौड़े थे, उनमें से 2 बहुत काले थे और एक सांवला था, अब उनके अंदर जाते ही आंटी ने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया।

फिर में अपनी छत से उनके घर में धीरे से घुस गया और देखने लगा कि अंदर क्या होता है? तो मैंने देखा कि आंटी अभी खाना खा ही रही थी और वो तीनों आदमी वही खड़े थे। फिर उनमें से एक जो बहुत काला था, उसने आंटी के बूब्स पकड़ लिए और अपनी पेंट खोल दी तो उसका 10 इंच का लंड बाहर आ गया, जो बहुत ही तना हुआ था और रोड की तरह लग रहा था। अब आंटी अभी खाना ख़त्म करना चाहती थी तो उसने उसको मना किया, लेकिन उसने आंटी को अपने मुँह में रोटी डालते वक्त अपना लंड उनके मुँह में जबरदस्ती डाल दिया। अब आंटी की तो जैसे सांस ही रुक गई थी, अब उनकी आँखों से आसूं निकल गये थे। फिर उसके बाद वो तीनों आदमी उनको जबरदस्ती उठाकर बेडरूम में ले गये, उसके बाद उन तीनों ने आंटी को पूरा नंगा का दिया और खुद भी पूरे नंगे हो गये। उन तीनों के लंड बहुत बड़े थे, जिसको देखकर अब आंटी डर गई थी और बोलने लगी कि मुझको छोड़ दो, में तुम लोगों के पूरे पैसे वापस कर दूँगी।

फिर उनमें से एक आदमी ने आंटी को चाटा मारा और बोला कि अब तू और तेरी बेटी दोनों को रंडी बनाऊंगा तुझे और पैसे चाहिए तो ले ले। तो आंटी ने कहा अगर मेरी बेटी को चोदना है तो में 2 लाख रुपये लूँगी, तो उन लोगों ने कहा कि ठीक है। फिर उसके बाद एक आदमी ने आंटी के मुँह में अपना लंड डाल दिया और अब आंटी भी रंडी की तरह उसका लंड चूसने लगी। फिर दूसरे आदमी ने आंटी की चिकनी चूत में अपना मुँह लगा दिया और अब तीसरा आदमी उनके निपल्स को चूस रहा था। अब करीब 10 मिनट तक ये सब चला, फिर उसके बाद एक आदमी ने आंटी के पैरो को कसकर पकड़ा और बोला कि जैसे कर रहे है वैसे करने दो, जितना माँगोगी उतना पैसा दूँगा, तो आंटी बोली कि ठीक है।

फिर उसके बाद एक आदमी ने आंटी को कुतिया बनने को कहा, तो आंटी झट से कुत्तिया बन गई। फिर उसने अपना लंड आंटी की गांड के छेद पर रखा और रगड़ने लगा। तो अब आंटी बोली कि ये क्या कर रहे हो? मैंने गांड कभी नहीं मरवाई है, उसको मत चोदो। इतने में दूसरे आदमी ने आंटी को फिर से एक चाटा मारा और बोला कि चुप रंडी और अपना लंड आंटी के मुँह में डाल दिया। फिर पहले आदमी ने आंटी की गांड पर थूक लगाया और थोड़ा सा पेला, तो आंटी ज़ोर-जोर से चिल्लाने लगी क्योंकि उसका लंड बहुत लम्बा और मोटा था। अब इतने में आंटी की गांड से खून आने लगा, अब आंटी रोने लगी थी और उनके पैर पकड़ लिए और बोलने लगी कि अगली बार मेरी गांड मार लेना, इस बार मेरी चूत मार लो। तो उन लोगों को आंटी पर दया आ गई, फिर उनमें से एक आदमी बोला कि साली रंडी कल फिर आऊंगा और पहले तेरी गांड का भोसड़ा बनाऊंगा, उसके बाद तेरी चूत मारूँगा और तेरी बेटी की भी पहले गांड मारूँगा। फिर उसके बाद उसने आंटी को बेड पर सीधा लेटा दिया और उसकी चूत पर अपना लंड सेट करके हल्का सा धक्का दिया।

Updated: November 29, 2018 — 12:09 am
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: