बड़ी चूची और मोटी गांड वाली भाभी-2

Antarvasna मैनें भाभी को उठाकर सोफे पर पटक दिया और उनको बोला कुत्तिया कमिनी, मादरचोद बहनचोद, भोसडी वाली साली सती सावित्री बन रही है बेटीचोद मेरे कंप्यूटर पर सेक्सी मोवी देखती है और नंगी पिक्चर्स देखती है और अभी नाटक करती है मादरचोद आज तो तुझे नंगा करके तेरी माँ चोदुंगा… भाभी आज तुमको कस कर चोदुंगा… पूरी फिल्म दिखाउंगा… आज अगर फिल्म ना देखी तो मेरा नाम मिंटू नहीं… भाभी लगातार मेरा विरोध कर रही थी और इसी बीच में उसने मुझे धक्का दिया और एक थप्पड़ मार दिया।

मुझे तारे नज़र आ गये मेरी पकड़ ढीली हुई तो उसने मुझे धक्का दिया में गिरा वो भागने लगी तो मैनें उसका पावं पकड़ लिया और वो फिर से तख्त पर गिरी. उसको चक्कर आ गया उसकी आखें बंद हो गयी और मैनें उसको अपनी गोद में उठा लिया और उसे अपने कमरे में ले आया और उसको दो थप्पड़ रसीद किए उनके गाल लाल हो गये. और में बोला बोल खुद चुदोगी भाभी जान, या फ़ीर कहो तो आज में रेप करूँ तुम्हारा… और एक हाथ से मैनें कंप्यूटर खोला और वही फिल्म लगा दी. भाभी फिल्म देखने लगी. मैनें उसकी चूची पर हाथ रखा तो मेरा हाथ झिड़क दिया और बोली साले कमीने तू मुझको नहीं चोद पाएगा…

मैनें आव देखा ना ताव और सुनीता भाभी की साड़ी पकड़ कर खींच ली और भाभी मेरी बाहों में आ गयी और मैनें उनके होठों पर क़ब्ज़ा किया और चूसने लगा लगातार चूसते हुए 20 मिनिट में ही भाभी मस्त होने लगी. मैनें भाभी के साड़ी उतार दी और भाभी की गांड दबाने लगा. फिर आगे से चूत पर हाथ लेकर गया तो मुझे पेटीकोट गिला होता लगा. मैनें कसकर चूसना शुरू किया और चुचिया दबाने लगा और जैसे ही छोड़ा तो भाभी भागने लगी. मैनें पकड़ा तो उनका ब्लाउस मेरे हाथ में आया और पीछे से फट गया नीचे ब्रा पहने थी. वो भागी में पीछे भागा और उसको सीडी पर पकड़ लिया और सामने से ब्लाउस पकड़ कर खींच लिया और फिर एक बार ब्लाउस फट गया और ब्रा नज़र आने लगी जो ब्लैक थी. मैनें भाभी को सीडी पर ही लिटा दिया और उनको नोचने लगा भाभी तिलमीलाई जा रही थी पर चिल्ला नहीं रही थी. मैनें उनकी ब्रा पकड़ी और खींच लिया ओर जेसे ही खींचा तो मजबूत संगमरमर के तराशे हुए बोब्स बाहर आ गये और में देखता रह गया।

मैनें भाभी को लिटा दिया और उनका पेटीकोट पकड़ कर फाड़ दिया और वो एकदम नंगी हो गयी में मस्त होकर उसे देखने लगा. एकदम स्तब्ध रह गया मौका देख भाभी भागी अपने कमरे में मैं पीछे भागा भाभी दरवाज़ा बंद कर रही थी की मैनें पैर घुसा दिया और मुझे चोट लगी भाभी ने तपाक से दरवाजा खोल दिया और मेरा पैर पकड़ लिया और बोली चोट तो नहीं लगी में हैरान रह गया और शांत हो गया मेरे मुहँ से कुछ नहीं निकला अब में चुप शांत और पलटा और लौट आया. मेरे दिमाग़ खाली हो गया अपने कमरे में गया और फिल्म बंद कर दी। और लेट गया।

तभी मेरे पीछे भाभी आई बोली क्या हुआ मिंटू बेटा क्या जोश ठंडा हो गया अब नहीं चोदोगे अपनी भाभी को आज सुनहरा मौका लगा है कल मिले ना मिले बेटीचोद चोदो मुझे बस डर गये या झड़ गए… मैनें कहा था ना की तू मुझको नहीं चोद पायेगा आने दे अपने भाई को उसको सब बताउंगी की तूने कैसे मुझे चोदा हैं… मैनें उसको देखा उसकी दोनो संगमरमर की चूचिया हिल रही थी उपर नीचे हो रही थी. जैसे तराजू के दो पलड़े में देखता रहा और मैनें उसकी दोनो चूची पकड़ ली और उसका मूहँ अपने लंड पर दबाने लगा, और मैनें उनकी चूचियाँ मसलना शुरू कर दिया और कस कर दबा रहा था. उनकी सिसकारियाँ बड रही थी. मैनें उसकी चूची मुहँ में ली और चूसने लगा वो मेरे बाल नोच रही थी।

हटा रही थी पर में लगातार उसकी कभी एक तो कभी दूसरी चूची चूसता और काटता, वो मचल रही थी. ओइईईईियय…उऊ…कर रही थी. मैनें आव देखा ना ताव और अपना लंड निकाल कर उसके हाथ में दिया जिसको पकड़ते ही वो हैरान रह गयी की 8 इंच का लंड मस्त खड़ा मेरे हाथ में है उसने आखें बंद की और मेरा लंड छोड़ दिया. मैनें उसको अपने उपर खींचा और खड़े लंड पर बैठा दिया और पूरा का पूरा लंड एक ही बार में अंदर कर दिया वो चिल्लाने लगी साले मादरचोद बाहर कर साले मर गयी में साले निकाल बाहर दर्द हो रहा है.. साले मादरचोद मेरे देवर छोड़ अपनी भाभी को में तेरी माँ समान हूँ प्लीज़ मत चोद.. छोड़ दो ना.. दर्द हो रहा है साले मादरचोद निकाल बाहर.. प्लीज़.. ईईईई.. उूऊउनई… निकालो मिंटू प्लीज़… पर में नहीं माना मैनें उसकी कमर पकड़ी और उसको ऊपर नीचे करने लगा।

फिर उसको गोद में लिया और बाहर सोफे पर लाकर उसको लिटा दिया और उसपर अपनी चक्की चला दी. में लगातार तेज धक्के दे रहा था और वो चिल्ला रही थी. धींरे करो प्लीज़ धींरे कस कर नहीं चोदो.. छोड़ दो.. मेरी इज़्ज़त मत लूटो.. मैनें कहा साली जब छोड़ कर आ गया था तो मुझको जोश दिलाने तूही आई थी अब चुद साली मादरचोद बहुत खुजली होती है ना तेरी चूत में आज सारी खुजली दूर कर दूँगा साली बहन चोद आज तेरी माँ चोद डालुंडा साली… और में ज़ोर लगाने लगा. भाभी चिल्ला रही थी मत चोद मिंटू तोड़ा धीरे दर्द हो रहा है प्लीज़ उई… फिर अचानक समय बदलने लगा और भाभी की आवाज सिसकारियों में बदल गयी. और स्वर बदलने लगे, चोद लो मिंटू चोद कसकर चोद साले बहुत खुजली है मेरी चूत में.. फाड़ डाल साली को बहुत गर्मी है साली में चोद आज में तेरी हूँ आज के लिएवैसे भी कई दीनो से लंड की प्यासी हूँ.. भाई रहते नहीं है और किसी से चुद भी नही सकती इसीलिए तो सेक्सी फिल्म देख के अपनी चूत में मूली, गाज़र, केले और उंगली करती थीतुम्हारे भाई का लंड छोटा है ठीक से खड़ा भी नहीं होता है और बिज़ी आदमी है मज़ा आ रहा है यार चोदो कसकर साले कसकर चोद बहुत जान है मेरी चूत में देखती हूँ मैं कितना दम तुझमें देखती हूँ में… लगातार भाभी मस्ती वाली बातें कर रही थी।

Updated: June 3, 2019 — 9:20 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: