बड़ी चूची और मोटी गांड वाली भाभी-3

Hindi sex story मेरा जोश बढ़ गया और मैनें उसके होठों पर होंठ रखे तो अबकी बार वो भी मेरा सपोर्ट कने लगी और मेरे साथ साथ चूसने लगी में लगातार धक्के दे रहा था. मैनें उसकी दोनो टांगे अपने कंधे पर रखी और फिर धक्के लगाने लगा. मेरे झटको और धक्कों से भाभी दो बार झड़ गयी और मैनें कहा भाभी में गया बस छूट रहा हूँ.. और मैनें उनकी चूत में ही अपना लंड झाड़ दिया. भाभी शांत थी और मुझे चूम कर बोली साले मेरा रेप कर ही दिया ना.. में नहीं चूदना चाहती थी यार तूने मुझे चोद दिया साले कुत्ते कमीने में भाभी के मुहँ से गंदी बातें सुनकर स्तब्ध था. वो बोली बेटा क्या मस्त लंड है तुम्हारा आज तो मज़ा आ गया है दिल कर रहा है की तुमको हमेशा के लिए अपना पति बना लूँ… पर तुम्हारे भईया क्या करेंगे.. और फिर मुझसे बोली चलो यार अब मुझे अपना मस्त हाथी चाटने दो.. तो और फिर आइस्क्रीम जैसे चाटने लगी 15 मिनिट तक और चूसने और चाटने के बाद मैनें भाभी से कहा मेरा पानी निकल जाएगा तो वो बोली कोई बात नहीं जब चूत में ले सकती हूँ तो साले में तेरा पानी अपने मुहँ में भी ले सकती हूँ चल मेरे मुहँ में निकाल पानी

मैनें सारा पानी उसके मुहँ में निकाल दिया और वो उसे पी गयी और मुझे देखकर बोली साले सूअर की औलाद देखा कैसे पिया सब.. मुझे गुस्सा आ गया और उसको उठाकर खड़ा किया और उसको 5-6 थप्पड़ मारे तो वो रोने लगी. क्या हुआ जो मुझे मार रहे हो.. मैनें ऐसा क्या कह दिया मैनें उसको पकड़ा और उसकी चूत में उंगली करने लगा और उसकी चूत जो झांटो के साथ थी चाटने लगा तो कुत्तिया बोली कस के चाट मेरे यार मै उसकी चूत मे काटने लगा और नोचने लगा तो बोली आराम से कर में कहीं भागी नही जा रही… मैनें उससे बोला में सूअर की औलाद हूँ ना इसलिया ज़ोर से दबाऊंगा और काटूँगा साली हरामजादी रंडी कुत्तिया कमिनी साली आज तेरे सारे नट – बोल ढीले कर दूँगा.. वो बोली मेरी गालियों का बुरा मत मानो राजा यह तो तुम्हारे चचेर भाई ने सिखाई हैं वो मुझे ऐसे ही चोदते है मैनें कहा साली तेरा रेप किया तब भी मस्त है… बोली रेप तूने किया है मेरा पर में तो पहले ही तेरे भाई से चुद चुकी हूँ और चोद के तू मेरा क्या बिगाड़ लेगा वैसे भी मैं नसबंदी करा चुकी हूँ मुझे जैसे चाहे चोदो मुझे कुछ नही होना है… मैनें बोला मादरचोद चोद दूँगा आज तेरी, कुत्तिया चल अपनी चूत दिखा और मैनें उसकी चूत को चाटा और उसको बगल में लिटाकर उसकी बगल में लेट गया और दोनो टांगे आगे कर उसकी चूत में लंड डाला उसकी चूत सूज गयी थी. मैनें धक्का मारा थोड़ा सा गया फिर मारा भाभी चिल्ला पड़ी धीरे से यार दर्द हो रही है…

मैनें एक और मारा 3/4 अंदर था उसकी आँखों से आंसू निकले मैनें चौथे धक्के में लंड पूरा अंदर डाला और फिर अंदर बाहर करने लगा. लगातार धक्कों से उसकी चीख निकल रही थी. मर गयी जालिम मार डाला तूने मुझे बस कर मर गई माँ.. दर्द हो रहा है प्लीज़ धीरे चोदो ना प्लीज़ धीरे से.. मार डालोगे क्या प्लीज़ धीरे से.. मर गई… में कुछ सुन ही नहीं रहा था मेरे दिमाग़ में मूली वाला सीन आ रहा था. मैनें भाभी को पकड़ा और अपनी तरफ मुहँ करके होंठ चूसने लगा. भाभी भी साथ दे रही थी. मस्त हो गयी थी. तभी अंदर गिला सा लगा भाभी झड़ गयी थी. थक गयी थी पर में रुक नही रहा था. में लेट गया और भाभी मेरे ऊपर बैठ गयी और ऊपर नीचे होने लगी. 10 मिनिट में मैं झड़ गया. इसमे पुरे 35 मिनिट लगे और भाभी की चूत फूल कर गुब्बारा हो गयी।

भाभी बोली मुझे पेशाब जाना है मैनें कहा मुझे भी जाना है चलो साथ चलें हम साथ में पेशाब गये भाभी के मूतने में सीटी की आवाज़ आ रही थी. उनको ज़ोर लगाना पढ़ रहा था. मैनें उनको रोका और उनको कहा ज़रा रूको मुझे एक काम है भाभी पेशाब करते हुए रोक दिया. मैनें उनको उठाया और अपने लंड पर बिठा दिया और मूतने को कहा तो भाभी बोली पागल हो गये हो में कैसे मुतुंगी.. मैनें कहा ज़ोर मार साली मुत अब मज़ा आयेगा.. भाभी ने ज़ोर लगाया मैनें भी उनके अंदर मूतना शुरू कर दिया. दोनो साथ में पेशाब कर रहे थे सारा मूत्र धीरे से बाहर आ रहा था. 5 मिनिट बाद मैनें जब उनको उतारा तो वो शर्म के मारे लाल हो गयी थी और मेरे से नज़र नहीं मिला रही थी. मैनें कहा क्यों भाभी मज़ा आया की नहीं… भाभी मुस्कुरा दी और शावर चला दिया और हम नहाने लगे वो मेरा लंड धोने लगी।

मैनें उनकी चूत पर हाथ मारा और अंदर उंगली करके साफ करने लगा. फिर 15 मिनिट बाद हम बाहर निकले दोनों फ्रेश थे. मैनें भाभी के कुल्लो पर हाथ रखा तो उनकी गांड के छेद पर हाथ पड़ा और मैनें उसमें उंगली डाल दी भाभी उछल पड़ी और भागी में पीछे था. भाभी कमरे घुस गयी और अंदर से दरवाज़ा बंद कर लिया और बोली साले चूत क्या दे दी.. अब गांड के पीछे पड़ा है… मैनें कहा प्लीज़ भाभी दरवाज़ा खोल दो नहीं तो तोड़ दूँगा… और मैनें धक्का मारा चिटकनी टूट गयी. भाभी बिस्तर पर लेटी थी और अपने हाथ अपनी गांड पर रखे थी नहीं दूँगी साले अब क्या मेरी माँ चोदेगा साले इसी दिन के लिए खिला पीला रही हूँ इतना मस्त लंड किया ताकि मेरी ही गांड फाड़ दे मैनें कहा मादरचोद अपनी गांड मारा ले नहीं तो में तुम्हारी माँ चोद डालूँगा.. भाभी बहुत मज़ा आयेगा एक बार मरा लोंगी गांड तो हमेशा कहोगी मेरी गांड पहले मारो बाद में मेरी चूत चोदना… पर भाभी अपनी गांड का छेद नही खोल रही थी।

तब मैनें उनका हाथ पकड़ कर घसीटा और भाभी बिस्तर से नीचे गिर पड़ी मैनें तुरंत उठाया और उनका घुटना सहलाने लगा. भाभी रोने लगी. मैनें तुम्हारा क्या बिगाड़ा है जो मेरा रेप किया अब मेरी गांड मारना चाहते हो प्लीज़ छोड़ दो… मैनें छोड़ तो दिया है यार पर एक बार में तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ फिर तुझे हाथ भी नहीं लगाऊँगा… भाभी बोली फिर तो नहीं परेशान करोगे पक्का… मैनें कहा पक्का भाभी… फिर भाभी उठी और मेरे पास आई और चूम कर बोली देखो तुम्हारे भाई साहब मेरी गांड मार चुके है मुझे दर्द होता है और तुम्हारा तो इतना बड़ा है की डर लगता है प्लीज़ धीरे धीरे करना…

Updated: June 3, 2019 — 9:20 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: