भाभी के मुंह में 7 इंच का लंड दिया-1

bhabhi sex stories हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम दीपक है। अब में आपके लिए एक और नई और सच्ची स्टोरी लेकर आया हूँ। में स्लिम विद पर्फेक्ट बॉडी और मेरे लंड का साईज 7 इंच लम्बा है। अब में सीधे पॉइंट पर आता हूँ, अब मैंने और मेरे रूम पार्टनर ने छुट्टियों पर गोवा जाने की प्लानिंग की तो हम शनिवार को गोवा पहुँचे और वहाँ पर सबसे अच्छी होटल में एक कमरा बुक कर लिया और फिर घूमने निकल गये। फिर हम पब में गये और ड्रिंक किया और फिर हमने बहुत मज़े किए। अब अगले दिन रविवार था तो हमने बिच पर जाने के लिया सोचा, लेकिन मेरे फ्रेंड ने मुझसे कहा कि यार मेरी गर्लफ्रेंड भी यहीं पर है और हम उसे भी अपने साथ ले लेते है। तो मैंने कहा कि यार तुम दोनों चले जाओ, में तुम दोनों के बीच में क्या करूँगा? तो उसने कहा कि ठीक है।

फिर वो चला गया और में टी.वी देखने लगा। अब में टी.वी में शिल्पा शेट्टी का हॉट सीन देखने लगा था। अब उसे देखकर मेरा लंड उठ गया, अब मेरा मन कर रहा था कि काश ये मिल जाए तो मज़ा आ जाए और वैसे भी कई दिनों से मैंने किसी भाभी के साथ सेक्स नहीं किया था। में अक्सर प्रीति और उसकी सहेली के साथ सेक्स किया करता, लेकिन वो भी अब उनके पति के साथ व्यस्त थी और फिर फाइनली मैंने मुठ मार ली। अब में बोर हो रहा था तो में बिच पर चला गया और वहाँ जा कर नज़ारे का मज़ा लेने लगा। अब में सभी लड़कियों और भाभीयों को देख रहा था और वैसे भी सब लड़कियां भीगी हुई होती है तो उनके बूब्स मस्त दिखते है, अब धीरे-धीरे मेरा लंड उठ रहा था।

अब में ऐसे ही टाईम पास कर रहा था कि अचानक मेरी नज़र एक कपल पर पड़ी। उस भाभी की उम्र करीब 30-31 साल होगी और वो क्या सेक्सी लग रही थी? उसने शॉर्ट स्कर्ट पहना हुआ था, जिसमें से उसकी क्लीवेज साफ़ दिख रही थी और वो एकदम पीछे से बैकलेस थी। उसकी फिगर एकदम मस्त थी, लचीली कमर, गोल गांड, उसके बूब्स बहुत बड़े और टाईट थे एकदम गोल्ड जैसे, वो एकदम कड़क माल था, मानो लंगूर के हाथ में अंगूर आ गया हो। अब में तो बस उसे ही देखे जा रहा था, अब वो जहाँ भी जाती मेरी नज़र उस पर ही रहती। अब वो कपल मेरे से थोड़ी दूर लेफ्ट साईड पर बैठा था और अब में तो बस उसे ही देखे जा रहा था। अब कई बार उसने मुझे भी देखा कि में उसे घूर रहा हूँ, लेकिन उसने इंग्नोर किया। फिर वो वहाँ से चले गये और फिर मुझे मेरे फ्रेंड का फोन आया, तो फिर में भी वहाँ से चला गया।

फिर अगले दिन फिर में बिच पर अकेला ही आया और अब में बिच के मज़े ले रहा था, लेकिन आज मुझे वो कपल नहीं दिख रहा था। अब में दूसरी लड़कियों को देखकर टाईम पास कर रहा था, अब करीब 2 घंटे हो गये थे लेकिन मुझे वो कपल नहीं दिख रहा था। अब में बोर होने लगा था तो अब में जाने ही वाला था कि मुझे वो हॉट भाभी और उसका पति दिख गये और आज तो वो भाभी क़यामत लग रही थी, उसने पारदर्शी साड़ी विद बैकलेस ब्लाउज पहना था। अब वो नहा रहे थे और उसकी साड़ी एकदम उसकी बॉडी से चिपक गयी थी और मुझे उसके मस्त बड़े-बड़े बूब्स साफ़-साफ़ दिख रहे थे और उछल रहे थे। अब मेरे लंड ने तो शॉर्ट्स में अपना टेंट खड़ा कर लिया था, अब में उसे ही देखे जा रहा था, तो उसने भी 1-2 बार मुझे नोटीस किया। अब मेरी उसे देखकर ही हालत खराब हो रही थी तो मैंने जैसे तैसे कंट्रोल किया, क्योंकि उसका पति भी साथ में था। फिर में अपने रूम में चला गया और उसके नाम की मूठ मार ली। फिर रात को में और मेरा फ्रेंड पब में गये और ड्रिंक करने लगे, तभी वहाँ वो कपल भी आया और वो ड्रिंक करने लगे, अब मेरी नज़र तो उससे हट ही नहीं रही थी।

अब उस भाभी ने कई बार मेरी तरफ तिरछी नज़र से देखा, लेकिन अब में तो उसके बूब्स को घूर रहा था। फिर वो चले गये और फिर थोड़ी देर के बाद हम भी रूम में आ गये। मैंने फिर से उसके नाम की मूठ मारी। अब रात को मुझे नींद ही नहीं आ रही थी, अब में तो बस उसके ख्यालों में खो रहा था। फिर अगले दिन सुबह में बिच पर बैठा था तो करीब आधे घंटे के बाद वो भाभी भी आई, लेकिन इस बार वो अकेली ही थी और वो मुझसे थोड़ी दूर ही बैठ गयी। अब मुझे लगा कि उसका पति यहीं कही कुछ लेने गया होगा। लेकिन उसका पति बहुत टाईम से नहीं आया तो फिर में मौका देखकर उसके पास गया और कहा कि में आपके साथ बैठ सकता हूँ, में अकेला बोर हो रहा हूँ। तो उसने कहा कि हाँ हाँ, उसका नाम अलीशा भाभी था। फिर मैंने उसे इंप्रेस करने के लिए बहुत सारे जोक्स और शायरी भी बोली और हमारे बीच ऐसे ही नॉर्मल बातें होती रही। फिर मैंने हिम्मत करके उससे कह दिया कि आप कल साड़ी में बहुत अच्छी लग रही थी। तो उसने कहा कि आप मुझसे फ्लर्ट कर रहे हो क्या? तो मैंने कहा कि नहीं में तो जो सच है वो कह रहा हूँ।

भाभी – अच्छा, इसलिए तुम मुझे घूर रहे थे।

में – हाँ आप बहुत खूबसूरत हो, आपका पति कितना भाग्यशाली है।

भाभी – बहुत हो गयी मेरी तारीफ, तुम्हारे कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?

में – नहीं मुझे अभी तक कोई पसंद नहीं आई।

अब हमारे बीच मस्त बातें चल रही थी कि तभी उसके पति का फोन आया और वो बातें करने चली लगी। फिर वो उदास हो कर आई तो मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ? तो उसने कहा कि मेरे पति कल शाम तक नहीं आ सकते, में अकेली तो बोर हो जाउंगी। तो मैंने कहा कि कोई बात नहीं में हूँ ना, में भी अकेला ही हूँ। फिर हम ऐसे ही बातें करते रहे, अब उसकी बातों से पता चला कि वो अपनी सेक्स लाईफ खुश नहीं है। फिर में उसे रूम तक छोड़ने गया, किस्मत से उसका रूम मेरे रूम से 3 रूम छोड़कर ही था। फिर में अपने रूम में आया और उसके नाम की मूठ मार ली, अब हमने एक दूसरे के मोबाईल नंबर भी ले लिए थे। अब मेरे दिमाग़ में वही चल रहा था कि कैसे भी करके कल तक इसे सेक्स करने मजबूर कैसे करूँ? क्योंकि बस सिड्यूस करना बाकी था, वैसे भी वो आधी तो पट गयी थी। फिर रात को में उनके कमरे में गया तो दरवाजा खुला था तो मैंने उन्हें आवाज दी, तो उन्होंने कहा कि में नहा रही हूँ, तो में अंदर जा कर बैठ गया। फिर में चुपके से उसे देखने की कोशिश कर रहा था, लेकिन मेरे में कुछ हाथ नहीं आया, फिर में बाहर के रूम में आ कर बैठ गया और टी.वी देखने लगा।

Updated: January 9, 2019 — 10:41 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: