भूखी भाभी ने मुझे अपना खाना बनाया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम आकाश है और में सूरत गुजरात का रहने वाला हूँ. में 28 साल का हूँ, हाईट 6 फुट, गोरा रंग, भरी छाती, शानदार बॉडी है. अब में जो स्टोरी आपको बता रहा हूँ, वो सूरत में पंजाब से रहने आई हुई एक भाभी जी की है, उनका नाम रेशमा है, हाईट करीब 5 फुट 8 इंच और फिगर 34-32-36 है, जैसे कि में डांस का शोकिन हूँ, मुझे डांस बहुत पसंद है और में कोई प्रोग्राम लिए पर्सनल कोचिंग देता हूँ. तो मेरी आई.डी. पर एक दिन रेशमा जी का ईमेल आया कि क्या आप डांस सिखाते हो? फिर मैंने कहा कि हाँ तो उन्होंने कहा कि मेरी बेटी के स्कूल में एक प्रोग्राम है, जिसमें सब माँ पर्फोम करने वाली है तो में भी उसमें भाग लेना चाहती हूँ.

फिर मैंने उनको रिप्लाई दिया और मेरी फीस और कुछ सब बता दिया. फिर उन्होंने मुझे बताया कि पहले हम कहीं मिलते है तो वहां पूरी बात करेंगे, कैसे कब डांस स्टार्ट करना है? फिर मैंने कहा कि ओके तो उन्होंने एक दिन शाम को जो सूरत का सबसे फेमस लेडीस मार्केट है और पॉश एरिया में है तो मुझे शाम को 5 बजे वहां बुलाया. फिर उन्होंने मुझे अपना कार का नंबर दिया था, जो काली होंडा सिटी थी. फिर में तो 4 बजे ही वहाँ पहुँच गया.

फिर मैंने थोड़ा बहुत टाईम पास किया, अब में सोच रहा था कि कैसी होगी? कौन होगी? फिर जैसे ही वो कार आई और मार्केट से थोड़ी दूर पार्क की तो में वहां खिड़की के पास पहुँचा और कहा कि में आकाश हूँ. फिर उन्होंने कहा कि अन्दर आ जाओ. फिर में अन्दर बैठ गया और जब में अन्दर गया तो एक अजीब सी खुशबू उनके पर्फ्यूम में से आ रही थी और वो तो जैसे जन्नत थी. वो डिज़ाइनर ड्रेस पहने हुई थी, उसका बैक साईड पूरा खुला था, लंबे बाल और लाल लिपस्टिक देखकर में तो जैसे पागल सा हो गया, जैसे क़यामत मेरे सामने आ गयी हो.

में – हाय मेम?

रेशमा – हाय कैसे हो?

में – में अच्छा हूँ और आप कैसे हो?

रेशमा – में भी अच्छी हूँ.

में – तो कब है आपका प्रोग्राम? और किस तरह का डांस सिखना चाहते हो?

रेशमा – मेरी बेटी के स्कूल में वार्षिक प्रोग्राम है और मुझे एक अच्छा डांस करना है.

में – ओके, आपको सीखने के लिए कौन सा टाईम चलेगा? में पर्सनल कोचिंग देता हूँ, मेरे पास कोई क्लास नहीं है.

में – तो मैंने कहा कि हम कल से स्टार्ट कर दे.

रेशमा – ओके, नो प्रोब्लम.

में – आप स्पोर्ट शूज ट्रैक पेंट टी-शर्ट पहनना जिससे आपको डांस करने में कोई प्रोब्लम ना हो.

रेशमा – हाँ कोई बात नहीं में आज लेकर ही जाउंगी.

में – ओके मेम कल मिलते है बाय.

रेशमा – बाय.

अब वो हल्की सी प्यारी सी स्माईल मेरी आँखों में बस गयी थी. फिर में चला गया, क्योंकि ये मेरा प्रोफेशन है तो में सीधे सेक्स के लिए सोच नहीं सकता, लेकिन मेरे मन में लड्डू फूट रहे थे कि भाभी के साथ एक बार सेक्स करने को मिल जाए तो बात बन जाए. फिर दूसरे दिन में उनके बताए हुए पते पर घर पहुंचा तो वो एक शानदार फ्लेट था. फिर उन्होंने दरवाजा खोला और बोली कि अन्दर आओ, उस वक़्त वो घर के कपड़े में थी और घर में होने के कारण उसने दुपट्टा भी नहीं डाला था तो उसकी हल्की सी बूब्स की धारी दिख रही थी.

फिर उन्होंने मुझे पानी दिया और बोला कि कुछ इंतज़ार करो में चेंज करके आती हूँ. फिर वो ऊपर रूम में गई और टी-शर्ट और ट्रेक पेंट पहनकर आई, में तो उसे देखता ही रह गया. फिर वो बोली कि यहाँ शायद जगह कम पड़ेगी चलो ऊपर चलते है. फिर मैंने बोला ओके. फिर वो आगे जा रही थी और में उनके पीछे जा रहा था तो उनके कूल्हे जैसे अप डाउन हो रहे थे. अब मुझे उनकी पेंट पर उनकी पेंटी के निशान दिख रहे थे और टी-शर्ट पर ब्रा के निशान दिख रहे थे. फिर सीढ़ी चढ़ते चढ़ते वो अचानक रुक गई तो में उनके पीछे था और में सीधे उनके कूल्हों से टकराया और मैंने उनको सॉरी बोला.

फिर उन्होंने मुझे एक नॉटी स्माईल दी और बोला कि आप ऊपर जाओ में पानी की बोतल ले आती हूँ और फिर में ऊपर गया, ऊपर मस्त हॉल था और हॉल में एक बड़ी स्क्रीन का टी.वी. और सोफा था, में सोफे पर बैठ गया. फिर वो ऊपर आई और सिस्टम चालू किया और मैंने उनको बेसिक स्टेप्स सिखाने चालू किए. फिर स्टेप्स सिखाते-सिखाते हम बात कर रहे थे तो उन्होंने पूछा.

रेशमा – आप कितने टाईम से डांस सिखा रहे हो?

में –में 7 साल से डांस सिखा रहा हूँ.

रेशमा – तब तो आपने बहुत लोगों को अलग-अलग डांस सिखाया होगा.

में – हाँ.

रेशमा – सब को पर्सनल कोचिंग ही देते हो.

में – हाँ मेम.

अब वो पीछे खड़े-खड़े मेरे मूव देख रही थी, मेरी बॉडी को अब्ज़र्व कर रही थी और मुझे लगा कि वो डांस कर रही होंगी. फिर मैंने उनको एक ठुमके वाला मूव दिखाया तो उन्होंने ट्राई किया, लेकिन उनसे नहीं हुआ. फिर उन्होंने मेरा हाथ पकड़कर उनकी कमर पर रख दिया और बोली कि सर ये देखो मुझसे मूव नहीं हो रहा है तो मुझे तो जैसे करंट लग गया और 1 मिनट तक स्टेप करता रहा.

फिर जब मैंने उनकी आँखों में देखा तो कुछ अलग सा नशा था, नॉटी स्माईल और वो लंबे नाख़ून मेरी बॉडी पर घुमा रही थी. अब मुझे पसीना आने लगा था और मैंने सोचा कि आकाश आज तो तू गया. फिर वो मेरे करीब आई और बोली कि आकाश मुझे कोई डांस नहीं सीखना है, बस मुझे तुमको खाना है.

तब में समझा कि आज मेरी लॉटरी लग गई है और में जोश में आ गया और बोला भाभी तो इतना नाटक घर में आने के बाद क्यों किया? फिर उन्होंने बोला कि तुमको उत्तेजित करने के लिए. फिर उन्होंने अपने सिस्टम का वॉल्यूम थोड़ा बढ़ाया और हमने एक दूसरे को नॉटी स्माईल देकर अपने लिप एक दूसरे के लिप पर रख दिए और एक लंबी स्मूच की, करीब 15 मिनट तक स्मूच करते रहे और उस वक़्त वो अपने नाख़ून मेरे सर में घुमा रही थी.

उस वक्त मुझे बहुत अच्छी फीलिंग आ रही थी, में बहुत उत्तेजित था वाउ जैसे में जन्नत की सैर कर रहा हूँ. फिर धीरे-धीरे वो गर्म होती गई और बातें करने लगे और बोली कि आकाश में बहुत दिन से सेक्स की भूखी हूँ और आज में तुम्हें नहीं छोड़ूँगी.

फिर मैंने कहा कि मुझे भी तुम्हें खाना बहुत पसंद है तो उन्होंने फिर से एक नॉटी स्माईल दी और मेरे कान को काट लिया. फिर मैंने उनको उल्टा घुमाया और पीछे से उनके बूब्स को दबाने लगा, क्या कयामत थी यार? अब मेरा तना हुआ लंड उनके कूल्हों के बीच में जा रहा था और में ज़ोर-ज़ोर से उनके बूब्स दबा रहा था.

उनके बूब्स एकदम कड़क से हो गये थे, वो ज़्यादा नहीं पर 36-37 साल की उम्र की होगी, लेकिन वो 32 साल की लगती थी. फिर मैंने बूब्स दबाते-दबाते एक हाथ उनकी पेंट के ऊपर से ही चूत पर रखा तो जैसे ही मैंने उनकी चूत को पेंट के ऊपर से छुआ तो वो जंगली बिल्ली की तरह मुझे देखकर सिसकियां लेने लगी और बोली कि आकाश और मत तड़पाओ, इस बादाम को फोड़ने वाला अब तक कोई नहीं आया, उसके पापा भी रात को एक बार करते है और फिर खर्राटे भरते है. फिर मैंने जल्दी से उनका टी-शर्ट निकाल दिया और पेंट के अन्दर हाथ डालकर पेंटी में डाला और चूत से खेलने लगा. वो लाल कलर की ब्रा में थी, अब मेरा एक हाथ उनकी चूत के पास था और में उनकी चूत में उंगली करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन चूत थोड़ी टाईट थी तो मुश्किल था. फिर उन्होंने मुझे धक्का दिया और में सोफे पर गिर गया और वो सीधे मेरे ऊपर आकर बैठ गई और अपने दोनों पैर खोलकर मुझे पागलों की तरह किस और काटने लगी.

अब में भी उनका पूरा साथ दे रहा था और वो भी खुश थी. फिर मैंने अचानक से मेरी पूरी जीभ उनके कान में डाल दी और कान पर स्मूच करने लगा तो वो उत्तेजना में उछल पड़ी और मैंने मेरा टी-शर्ट निकाला और वो मेरी बालों से भरी छाती पर उनके नाख़ून वाली उंगली घुमाने लगी, वॉववववववव और मेरी निप्पल को बालों के बीच में से अपने नाख़ून से पकड़ने लगे और वहां एक हल्का सा काट दिया, वॉववववववववववववव में तो अब जैसे पागल सा हो रहा था.

फिर उसने मुझे यहाँ वहाँ नाक पर, आँखों पर, गाल पर, छाती पर किस करना चालू किया और मेरी पीठ पर नाख़ून वाली उंगली घुमाते-घुमाते स्क्रेच करने लगी, अब मुझे अजीब सा मज़ा दर्द के साथ आ रहा था. फिर उन्होंने कहा कि आज में तुम्हारा रेप करूँगी. फिर मैंने कहा कि रेप तक तो ठीक है, लेकिन मेरा मर्डर मत करना तो हम दोनों हंस पड़े और अपना काम चालू किया. फिर मैंने उनकी जीन्स को निकाल दिया, अब लाल कलर की पेंटी मेरे सामने थी और में पागल सा हो रहा था.

फिर जैसे ही उन्होंने मेरा लंड जो 7 इंच का है तो उसे अंडरवियर के ऊपर से छुआ तो उनकी आँखे और खुल गयी और बोली कि आज बहुत मज़ा आयेगा. फिर हम 69 की पोजिशन में आ गये. फिर मैंने उनकी पेंटी मेरे दांत से निकाल दी और अब प्यारी सी मस्त लाल चूत, जैसे मेरे सामने ताज़ी फ्रेश बादाम रखी गयी हो तो वैसे पड़ी थी. फिर मैंने सीधे अपने होंठ उनके ऊपर रख दिए और उन्होंने मेरा लंड मुँह में लेना चालू कर दिया.

फिर जैसे ही मैंने अपने होंठ उनकी चूत पर रखे और जीभ अन्दर डाली तो वो मचल उठी और मेरे लंड को काट लिया तो मुझे बहुत दर्द हुआ, लेकिन दोस्तों सेक्स ही एक ऐसी चीज़ है जिसमें दर्द और मज़ा दोनों साथ में आते है. अब में तो जैसे जन्नत में पहुँच गया था, आप ही सोचो जैसे मुँह में लंड, साथ में दांत का स्पर्श, साथ में नाख़ून वाली उंगली, मेरी बॉल्स पर और अन्दर बाहर की मूवमेंट.

फिर में 15 मिनट में झड़ गया और उन्होंने भी अपना पानी छोड़ दिया, जैसे पॉर्न मूवी में देखते है वैसे ही में उनके चेहरे पर मेरा स्पर्म देख रहा था और उनके पानी को नारियल पानी में रही हुई मलाई की तरह चख रहा था. फिर में बोला कि चल मेरे हीरो अब समय ख़राब मत करो. फिर उन्होंने अलमारी में से कंडोम निकाला और मेरे लंड को पहनाया और मुझे बेड पर लेटा दिया. फिर पहले वो मेरे चेहरे के पास आई और बोली कि तुम्हारे थूक से इसे गीली कर दो. फिर में उसे चाटने लगा और वो मेरे लंड को हिलाकर फिर से तैयार करने लगी.

फिर जैसे ही उन्हें एहसास हुआ कि मेरा लंड मस्त खड़ा हो गया है तो वो भी खड़े होकर मेरे लंड पर बैठ गई, जैसे घोड़े की सवारी करने के लिए घोड़े पर बैठते है और मेरी बालों से भरी छाती के ऊपर लाल नेल पॉलिश की हुई नाख़ून वाली उंगली घुमाने लगी, वो कभी गले पर तो कभी छाती पर तो कभी निप्पल पर तो कभी मेरी बगल में अपनी उंगली फेर रही रही थी. अब में तो जैसे पागल सा हो रहा था, क्या कमाल की भाभी थी यार? फिर वो मेरे ऊपर उछलने लगी और में भी मेरे कूल्हें उठा-उठाकर उसे चोदने लगा, अब हल्का म्यूज़िक, सेक्सी पर्फ्यूम, सामने जनन्त और मस्त माहौल में जैसे हमारी सारी इंद्रियां एक हो गई हो और मज़े ले रही हो, अब ऐसा लगा जैसे जिस्म, दिल, मन, आत्मा कुछ टाईम के लिए एक हो गये हो.

फिर 15-20 मिनट के बाद वो बोली कि चल अब तेरा पॉवर दिखा तो मैंने उनको उल्टा किया और उनकी गांड के छेद पर और चूत पर थूक लगाया और मेरा लंड चूत पर रखा और चूत के छेद को सिर्फ़ मेरी उंगली से खोला, मेरा लंड अन्दर बाहर करने लगा वाऊँ और उनके कूल्हें पर थप्पड़ मारने लगा और उनके कूल्हें गोरे थे तो उनके कूल्हे लाल लाल हो गये और में ज़ोर-ज़ोर से अन्दर बाहर करता रहा.

फिर में बीच में रुका और एक बीच वाली उंगली उनकी गांड के छेद में डाल दी तो वो चिल्ला उठी. अब मेरी उंगली उनकी गांड के छेद में टाईट हो गई थी, जैसे कि ये अनुभव उनका पहली बार था और टाईट उंगली को बिना हिलाये बगेर फिर से में चूत मारने लगा और वो मस्त इन्जॉय करती रही और ज़ोर-ज़ोर से आहह कम ऑन आकाश, वॉववववववव बहुत मज़ा आ रहा है आकाश और तेज कम ऑन वॉवववववव आआहह कम ऑन आअहह आकाश लव यू माई वाइल्ड टाईगर कम ऑन ज़ोर-ज़ोर से बोलने लगी और में ज़ोर-ज़ोर से उसे ठोकता रहा.

फिर हम दोनों झड़ गये और शांत हो गये और हम एक दूसरे की बाहों में नंगे पड़े रहे. फिर हल्की सी किस के बाद हमने फिर से 20 मिनट तक इन्जॉय किया और वो मेरे लंड से और में उनकी चूत से खेलता रहा. फिर आधे घंटे के बाद हमने बाथरूम में साथ में शॉवर लिया और एक दूसरे के बदन को साफ किया और हमने कपड़े पहन लिए. फिर जाते वक़्त उन्होंने मुझे कुछ पैसे दिए. फिर मैंने कहा कि मैंने आपको कोई डांस नहीं सिखाया तो में पैसे नहीं ले सकता.

फिर उन्होंने कहा कि ये डांस के पैसे नहीं है, ये मुझे खुश करने के लिए है और साथ में कुछ गिफ्ट भी दिए और जाते वक़्त फिर से उन्होंने मुझे एक गर्म किस किया. आज भी रात को जब में सोता हूँ तो उनके लिप, उनके नाख़ून वाली उंगली का टच याद करके मेरा मन हल्का करता हूँ. ये उनकी इच्छा थी और जो मैंने महसूस कर ली थी. फिर मैंने उनकी और मेरी इज़्ज़त को देखकर कभी मैंने उनको वापस कॉल नहीं किया और उनके घर भी नहीं गया.

Updated: April 19, 2016 — 6:50 am
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme

Fatal error: Uncaught exception 'Exception' with message 'Cache directory not writable. Comet Cache needs this directory please: `/home/mgk/public_html/wp-content/cache/comet-cache/cache/http/merigandikahani-com`. Set permissions to `755` or higher; `777` might be needed in some cases.' in /home/mgk/public_html/wp-content/plugins/comet-cache/src/includes/traits/Ac/ObUtils.php:367 Stack trace: #0 [internal function]: WebSharks\CometCache\Classes\AdvancedCache->outputBufferCallbackHandler('<!DOCTYPE html>...', 9) #1 /home/mgk/public_html/wp-includes/functions.php(3721): ob_end_flush() #2 [internal function]: wp_ob_end_flush_all('') #3 /home/mgk/public_html/wp-includes/class-wp-hook.php(298): call_user_func_array('wp_ob_end_flush...', Array) #4 /home/mgk/public_html/wp-includes/class-wp-hook.php(323): WP_Hook->apply_filters('', Array) #5 /home/mgk/public_html/wp-includes/plugin.php(453): WP_Hook->do_action(Array) #6 /home/mgk/public_html/wp-includes/load.php(677): do_action('shutdown') #7 [internal function]: shutdown_action in /home/mgk/public_html/wp-content/plugins/comet-cache/src/includes/traits/Ac/ObUtils.php on line 367