कन्डोम का उपयोग-2

sex stories in hindi: में: वरना क्या.?

आँचल: अरे पागल अगर इतनी जल्दी पापा बन जाओगे तो फिर वो सब करने मे अच्छा नही लगेगा..!!

अब मेरा लंड खड़ा होने लगा था. मैने जानबुझ कर कहा “क्या करने मे अच्छा नही लगेगा.?”

आँचल: अब इतना अंजान मत बन, रेग्युलर कॉलेज मे पढ़ता है ओर अंजान बनता है जैसे की तुझे कुछ पता ही ना हो..!

फिर मैने कहा की अब आप ही सब साफ साफ बोलोगे तो मुझे भी साफ बोलने से शर्म नही आयेगी.

आँचल: अच्छा लो में अब साफ साफ ये बोल रही हूँ की इतनी जल्दी पापा बन जाओगे तो सेक्स लाइफ मे मज़ा नही आयेगा ओर फिर तुम्हारा मन भी नही करेगा फिर मैने कहा की इसका मतलब भैया अब पहले से कम सेक्स करते है तुम्हारे साथ अभी तक तो हम सारी बाते मज़ाक मे कर रहे थे पर अब आँचल के फेस पर स्माइल नही थी. उसने कहा की अब तो बस सप्ताह मे 1-2 बार ही होता है.

फिर आँचल ने टॉपिक चेंज करते हुये कहा की तुम तो रेग्युलर कॉलेज मे जाते हो तो गर्लफ्रेंड भी ज़रूर होगी. तो मैने सर हिला कर मना कर दिया. तो इस पर आँचल ने नाराज़ होते हुये कहा ज़्यादा झूठ मत बोलो, सच सच बताओ ना. मैने कहा भाभी सच बोल रहा हूँ मेरी कोई गर्लफ्रेंड नही है. फिर आँचल ने कहा फिर तो तुमने भी कन्डोम का उपयोग नही किया होगा”.? मैने मना करते हुये कहा की भैया को मौका मिलता है पर वो तब भी कन्डोम से नही करते है ओर एक में हूँ जिसे आज तक कन्डोम से करने का मौका ही नही मिला है. अचानक पता नही आँचल के दिमाग़ मे आया ओर उसने एकदम से कहा तुम्हे कन्डोम से करना है? मैने भी एकदम से हाँ बोल दिया बस अब मुझे मौका मिल गया था.

आँचल ने वही टेबल के नीचे से एक कन्डोम का पेकेट निकाला. उसमे 3 कन्डोम थे. फिर मैने कहा इतनी जल्दी क्या है आराम से करेंगे, उससे पहले ओर कुछ भी कर ले.

आँचल : ओर कुछ..?

मैने हाँ बोला ओर बोलते ही उसके बूब्स पर अपना सीधा हाथ रख दिया. जैसे ही मैने हाथ रखा मानो उसे 440 वोल्ट्स का करंट लग गया हो. उसके मुँह से एकदम से आआहह की आवाज़ निकली. फिर मैने मौका देखते हुये उसके ब्लाउज के हुक्स खोल दिये. अब वो काली ब्रा मे थी. वो थोड़ा सा शर्मा रही थी, मैने उससे से कहा की असली मजा लेना है तो शर्म मत करो. अब उसने खुद ही अपनी ब्रा खोल दी. मैने उसके बूब्स से दूध पीना शुरू कर दिया ओर बीच बीच मे दांत से काट रहा था ओर उसके मुँह से आआअहह आआअहह की आवाज़े आ रही थी. वो अब मेरे बालो को नोचने लगी तो में समझ गया की ये अब झड़ने वाली है.

अब मैने उसकी साड़ी के अंदर हाथ डाल दिया. उसकी जांघे बिल्कुल कॉटन जैसी मुलायम थी. जैसे ही मैने उसके पेंटी पर हाथ रखा तो पता चला की वो झड़ चुकी है. अब मैने धीरे धीरे उसकी साड़ी उतार दी ओर पेटीकोट तो उसने अपने आप ही खोल दिया उसने काले कलर की पहने रखी थी जो झड़ने के बाद गीली हो गयी थी. मैने उसको बेडरूम मे चलने को कहा पर बेडरूम मे उसकी बेटी सो रही थी तो मैने सोफे पर ही उसको लेटा दिया ओर पेंटी उतार दी. अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी. फिर उसने मुझे कपड़े उतारने को कहा तो मैने फटाफट से कपड़े उतार दिये.

अब मैने सीधा उसकी चूत पर अटेक किया ओर पागलो की तरह चूत मे उंगली अंदर बाहर करने लगा. अब वो भी पागल होने लगी थी ओर ऊऊओह आाऊहह आअहह की आवाज़े निकालने लगी. मैने एक हाथ से उसका मुँह बंद किया ओर फिर मैने उसकी चूत चाटनी शुरू कर दी. उसने मेरे बालो को पकड़ कर चूत से चिपका दिया उसकी टांगे कापने लगी वो फिर से दूसरी बार झड़ने लगी. मैने जल्दी से अपना मुँह हटाया ओर सारा पानी सोफे पर निकल गया. अब उसने मेरा लंड चूसना स्टार्ट किया 6 इंच का था. मेरा लंड तो पहले ही खड़ा हो गया था इसलिये जल्दी ही झड़ गया ओर सारा पानी उसके बूब्स पर झाड़ दिया ओर उसके उपर ही 2 मिनिट तक लेटा रहा. अब मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा.

मैने आँचल से कन्डोम लगाने को कहा तो उसने फटाफट किसी एक्सपर्ट की तरह पेकेट को फाड़ा ओर मेरे लंड को टाइट करके कन्डोम चड़ा दिया में अब चुदाई के लिये तैयार था ओर अब आँचल की चूत भी 2 बार झड़ने के बाद चिकनी हो गयी थी मैने सोफे पर ही उसकी टांगे फैलाई ओर लंड को चूत पर रखा ओर हल्का सा शॉट मारा ओर पूरा लंड अंदर तक चला गया तो उसने कहा देखा यही होता है 2 बच्चे होने के बाद मैने अपना काम जारी रखा ओर चुदाई करता रहा अब आँचल को मज़ा आने लगा था ओर वो भी अब गांड हिला हिला कर मेरा साथ दे रही थी ओर आअहहााअहह ऊऊहूऊऊहह आआअहह की आवाज़े आ रही थी.

मैने शॉट्स तेज़ कर दिये तो अब उसे थोड़ा दर्द होने लगा ओर वो उूुउऊहहुउऊउऊहह करने लगी. अब मैने अपना लंड उसकी चूत से निकाला ओर उसकी गांड के होल पर फिट किया ओर ज़ोर से शॉट मारा तो मानो उसकी जान निकल गयी हो. उसकी आँखो मे आँसू आ गये लेकिन में नही माना ओर दोबारा से एक ओर जोरदार शॉट मारा. मेरे लंड मे दर्द होने लगा था. वो आअहह आआहह आआआअहह ऊऊऊऊहह किये जा रही थी. में 10-15 मिनिट तक चुदाई करता रहा ओर फिर मुझे लगा की में झड़ने वाला हूँ पर डर किस बात का मैने तो कन्डोम पहन रखा था. मैने आखरी 10-12 शॉट्स मारे ओर लंड बाहर निकाल लिया. आँचल ने झट से कन्डोम उतार दिया ओर हाथ से मूठ मारने लगी ओर मैने उसके लिप्स पर ओर उसकी आँखो ओर बूब्स पर पानी झाड़ दिया.

अब उसका पति प्रमोशन के बाद मैनेजर बन गया है ओर अब वो पश्चिम विहार के अपार्टमेंट मे शिफ्ट हो गये है. पर में जब भी वहा जाता हूँ तो आँचल को ज़रूर चोदता हूँ. तो दोस्तो ये मेरी सेक्सी ओर पहली कहानी है. तो अगर आपको कोई कुछ कमी लगी हो तो माफ़ कर देना ओर कमेन्ट जरुर करना.

धन्यवाद ..

Updated: October 5, 2019 — 12:19 am
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: