गर्लफ्रेंड की चूत का भोसड़ा बना दिया

hindi chudai ki kahani हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम विक्की है, में आज एक बार और एक नई स्टोरी लेकर आया हूँ। ये स्टोरी मेरी और मेरी दोस्त वीनू के बारे में है, उसकी शादी से पहले उसके और मेरे बीच 2 बार सेक्स हो चुका था, लेकिन उसकी शादी के 3 साल बाद वो मुझे दुबारा मिली। अब उसके एक 2 साल का बेबी है, उसका पति उसके साथ ज़्यादा सेक्स नहीं करता था, वो मुझे बातों-बातों में उससे पता लगा था। अब में कभी- कभी उससे फोन मैसेज पर एडल्ट चैट करता था। अब उसकी शादी के बाद से जब से वो मुझे मिली है तब से में उसको कई बार स्मूच कर चुका हूँ। लेकिन हमारे बीच ज़्यादा कुछ नहीं हो पाया तो मैंने उससे मिलने का प्लान बनाया, ये उसी की कहानी है। अब में आपको विनु के बारे में बता दूँ, वीनू के एक 2 साल का बच्चा है, उसकी शादी को 3 साल हो गये, उसका साईज़ 36-32-34 है, वो दिखने में बहुत सेक्सी है।

एक बार उसका पति घर से बाहर कुछ दिनों के लिए चला गया, उन्होंने काफ़ी दूर एक जगह फ्लेट लिया था जहाँ आस पास कम ही लोग रहते थे, तो मैंने प्लान बनाकर उससे बात करके उसके घर गया। फिर जब में रात को उसके घर पहुँचा, तो उसने दरवाजा खोला। अब मेरे सामने जैसे कोई सेक्सी सी देवी खड़ी हो, वो ऐसी लग रही थी, उसने काले कलर का बैकलेस ब्लाउज और ब्लू कलर की साड़ी पहनी हुई थी, लाल ग्लॉसी लिपस्टिक से तो वो चमक रही थी। फिर उसने कहा कि अभी उसका बेबी सोया है तो चुपचाप अंदर आ जाओ, तो में चुपचाप अंदर चला गया। फिर मैंने उसको सामने से देखा तो मेरा मन किया कि बस किस कर लूँ। फिर मैंने उसको अपनी बाहों में भर लिया और उसकी गर्दन पर किस करने लगा, तो पहले तो वो हंसी फिर बस अपनी आँखे बंद करके इंजॉय करने लगी। फिर मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू किया, अब चिल्ली फ्लेवर वाली लिपस्टिक उसके पूरे चेहरे पर फैल गई थी।

फिर थोड़ी देर रुककर हम दोनों ने खाना खाया, जो उसने पहले से ही बना रखा था, अब उसने काफ़ी सारा खाना मुझे अपने हाथ से खिलाया। अब एक बार बीच में उसका बेबी उठ गया था तो उसको दुबारा सुलाकर, फिर हम दोनों आराम से एक साथ बैठे और दुबारा किस करने लगे। फिर में उसको बाथरूम में लेकर आया, वहाँ मैंने शॉवर चालू किया, वो अभी भी साड़ी में थी लेकिन उसने कुछ नहीं कहा। फिर उसने मेरी टी-शर्ट उतार दी, अब में सिर्फ़ पजामे में था। लेकिन अब वो भीगी हुई इतनी सेक्सी और हॉर्नी लग रही थी कि पूछो मत। फिर मैंने कुछ सोचा और उससे कहा कि में अभी आता हूँ, फिर में उसको बाथरूम में शॉवर के नीचे छोड़कर बाहर आ गया। अब में बाहर आ कर किचन में चॉकलेट या वनिला सॉस ढूँढने लगा, लेकिन मुझे किचन में कुछ नहीं मिला।

फिर मैंने फ्रिज खोलकर देखा तो वहाँ मिल्क क्रीम का एक पैकेट रखा था, फिर मैंने वो लिया और उसको खोला और सीधा बाथरूम में चला गया। तब तक वीनू ने अपनी साड़ी उतार दी थी, अब वो सिर्फ़ ब्लाउज और पेटिकोट में थी, उसका पेटिकोट उसकी नाभि से थोड़ा नीचे ही बंधा था। फिर उसने मुझे अपनी नशेली आँखो से देखा और अपनी तरफ खींचा, तो मैंने उसको गले लगाया और उस पर मिल्क क्रीम डालने लगा और उसको अपने हाथों से फैलाने लगा। फिर मैंने वो मिल्क क्रीम उसके कंधो पर डाली और उसके ब्लाउज के ऊपर से ही मसलने लगा। फिर मैंने उसकी पूरी ब्रेस्ट पर ब्लाउज के अंदर हाथ डालकर उसकी निपल पर क्रीम को मसल-मसलकर लगाया। उसके दूध भरे बूब्स आज भी सॉफ्ट है, फिर मैंने वो क्रीम उसकी नाभि पर और उसकी पूरी पीठ पर लगा दी। फिर वीनू नीचे बैठने लगी और उसने धीरे-धीरे मेरा पजामा उतार दिया। तो मैंने भी उसका ब्लाउज खोल दिया, उसने नीचे ब्रा नहीं पहनी थी तो उसके दूध भरे हुए बूब्स एकदम से उछलकर बाहर आ गये।

फिर मैंने उसके बूब्स को जीभ से चाटना शुरू किया, अब वो बस सिसकियाँ भर रही थी। फिर में बच्चों की तरह उसके निप्पल को चूसने लगा, अब उसके बूब्स का दूध बह रहा था जो मुझे बहुत टेस्टी लग रहा था। फिर मैंने उसके पेटिकोट को नीचे से उठाया और उसकी पेंटी तक अपना हाथ पहुँचाया। फिर मैंने धीरे से उसकी पेंटी भी उतार दी, उसने काले कलर की पेंटी पहनी थी, उसकी पेंटी में से क्या मस्त महक आ रही थी? अब में तो पहले से ही नंगा था, अब मेरा हथियार पूरा तैयार था। फिर मैंने उसके पेटिकोट का नाड़ा खोल दिया, उसकी चूत पर हल्के-हल्के से बाल थे और भीगी हुई, गीली-गीली, फूली हुई चूत क्या मस्त लग रही थी? उसका बाथरूम काफ़ी बड़ा था तो में नीचे ही लेट गया और वो मेरे ऊपर 69 की पोज़िशन में लेट गई। अब में उसकी चूत को अच्छे से चाटने लगा था, उसकी चूत के अंदर की क्रीम क्या टेस्टी थी? अब में जैसे-जैसे अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटता, तो वो मुझे अपने नाख़ून और चुभा देती।

उसको मुँह में लंड लेना पसंद नहीं था वो ढंग से कर नहीं पाती थी, तो मैंने उसको कभी फोर्स भी नहीं किया था, लेकिन आज उसने अपने मुँह में लंड लेने की कोशिश की। अब उसके हाथों ने जैसे ही मेरे लंड को टच किया तो में जैसे पूरा हिल गया। अब वो अपनी जीभ से मेरे लंड को चाटने लगी, तो कभी मेरे लंड को अपने मुँह में डालकर ऊपर नीचे करती। अब उसकी गांड का छेद भी मेरे मुँह के पास ही था, तो मैंने उस पर जैसे ही जीभ फैरी तो उसके मुँह से काफ़ी तेज़ आहह हह हह ह निकली। अब में उसकी चूत को चाटे जा रहा था और अपनी जीभ को अंदर बाहर कर रहा था। अब वो बस आआहह हह ओह ऊ हहहहह आअहह ओ मम्मी कर रही थी। फिर मैंने उसकी गांड के छेद को भी चाटना शुरू कर दिया और उसकी चूत में उंगली डालकर हिलाने लगा। अब वो तो बस जैसे की सातवें आसमान पर पहुँच गई थी, फिर उसने भी अपने बूब्स के बीच में मेरा लंड फंसाया और उससे मेरे लंड पर मालिश करने लगी।

अब मेरा बस निकलने ही वाला था, फिर उसने जैसे ही मेरा लंड दुबारा से अपने मुँह में लिया, तो मेरा पूरा पानी निकल गया। फिर उसने पानी डालकर मेरे लंड का पानी साफ किया, फिर मैंने उसको नीचे लेटाया और उसकी चूत में अंदर अपना लंड डाल दिया। अब मैंने जैसे ही उसकी चूत में अपना लंड डाला तो मुझे ऐसा लगा कि जैसे मैंने अपना लंड भट्टी में घुसा दिया हो। उसकी चूत इतनी गर्म थी कि जैसे मेरा लंड जल गया हो और बिल्कुल सॉफ्ट-सॉफ्ट, चिकना सा, अंदर बाहर, अंदर बाहर हो रहा था। अब उसके मुँह से बस ओह माँ हाए में मर गई ओह आअहह हहहह ऊऊहह हमम्म मम्मूऊ उम्म्म बस यही निकल रहा था। फिर मैंने उसके होंठों से अपने होंठ लगा दिए, अब अंदर बाहर के हर झटके से उसकी पूरी बॉडी काँप रही थी, अब ऊपर से शॉवर से गिरता हुआ पानी ऐसा था जैसे आग पर पानी गिर रहा हो।

फिर उसने मुझे नीचे लेटाया और मेरे ऊपर चढ़कर ऊपर नीचे करने लगी। अब वो अपनी आँखे बंद करके बस एयए आह हहहहह आआ आ अहहह हह ऐसी आवाजे निकाल रही थी, अब वो पहले से ही 2 बार झड़ चुकी थी। फिर वो थक गई तो मैंने उसको ऊपर ही रखकर में नीचे लेटे-लेटे उसकी चूत में झटके मारने लगा, अब वो बस ढीली पड़ रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद मेरा भी निकलने ही वाला था तो मैंने अपना लंड बाहर खीच लिया क्योंकि मैंने कोई सुरक्षा नहीं लगाई हुई थी। अब क्रीम की वजह से उसकी पूरी बॉडी चिकनी हो गई थी। फिर हम दोनों थोड़ी देर तक ऐसे ही लेटे रहे और फिर थोड़ी देर के बाद उठकर साबुन लगाकर नहाने लगे। अब हमारा बदन काफ़ी चिकना-चिकना हो गया था, अब मुझे उसके नाख़ून के निशान महसूस हो रहे थे, जब में साबुन लगा रहा था। फिर मैंने उसके शरीर पर साबुन लगाया और अपना शरीर उसके साथ रगड़ने लगा और उसकी चूत में उंगली करने लगा।

तभी उसने कहा कि उसको पेशाब आ रही है, तब मेरे दिमाग़ में एक शैतानी आई। फिर मैंने उससे कहा कि ऐसे नहीं करने दूँगा, तो उसने कहा कि क्यों? तो मैंने कहा कि जैसा में कहता हूँ वैसा करो। फिर में नीचे लेट गया और उसकी चूत को चाटने लगा, तो उसने कहा कि ऐसा मत करो, बहुत ज़ोर से आ रहा है। तो मैंने कहा कि जब लगे ना बस निकल जायेंगा तब बोलना, फिर मैंने उसकी चूत में उंगली करना शुरू किया। अब उसकी चूत की सारी नसें टाईट हो गई थी, अब मुझे पता लग गया था कि बाँध कभी भी टूट सकता है। तो मैंने जैसे ही अपना मुँह हटाया, तो उसने एकदम से बहुत सारा पेशाब मेरी छाती पर ही कर दिया। अब उसकी आँखे ऊपर चढ़ गई थी, उसको जैसे पता नहीं कितना बड़ा आराम मिला था, फिर हम दोनों दुबारा नहाए और सोने चले गये।

Updated: November 26, 2018 — 12:51 am
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: