गीतू की गुलाबी चूत का नशा -1

desi sex stories हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है। मेरी उम्र 22 साल है, में गुजरात के सूरत शहर का रहने वाला हूँ, मेरी फेमिली बहुत अच्छी है और में एक टेक्सटाइल्स कंपनी में जॉब करता हूँ। यह मेरी रियल स्टोरी हूँ, में आशा करता हूँ कि आपको मेरी यह स्टोरी बहुत पसंद आएगी। अब में आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है और में रोजाना जिम जाता हूँ, मेरा कलर गोरा है, में दिखने में हैंडसम हूँ। यह स्टोरी तब की है जब में मुंबई में जॉब करता था, मेरे कही फ्रेंड मुझे राज भी बोलते है, यह स्टोरी मेरी और मेरी गर्लफ्रेंड के बीच कि है। अब में आपको मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में बताता हूँ उसका नाम गीतू है, वो 19 साल की है। अब हमारी फ्रेंडशिप को 1 साल हो गया था, लेकिन मैंने उसे अभी तक टच तक नहीं किया था।

फिर एक दिन जब हम लोग गार्डन गये तो मैंने उसे सिर्फ़ किस ही किया और जब में उसके बूब्स पर अपना हाथ लगाने लगा, तो वो गुस्सा हो गई और उसने कम से कम एक महीने तक मुझसे बात नहीं की। लेकिन आख़िर मैंने भी उसे एक दिन मना ही लिया और उसको कहा कि ये सब तो चलता रहता है। तो वो बोली कि मुझको यह सब अच्छा नहीं लगता, तो मैंने कहा कि अच्छा नहीं लगता तो नहीं करूँगा। अब उस दिन के बाद से हम दोनों मिलते तो थे, लेकिन किस तक ही सीमित थे। लेकिन अब मुझसे सब्र नहीं होता था और में उसे चोदने की प्लानिंग बनाने लगा था। फिर एक बार जब में गर्मीयों में उससे मिलने गया तो वो बोली कि आज तुम ऑफीस से छुट्टी कर लो आज बैठकर बातें करेंगे। तो मैंने ऑफीस फोन करके बोल दिया कि आज में नहीं आऊंगा और उसके बाद हम दोनों कुछ देर तक उसके कॉलेज में ही बैठे रहे।

फिर मैंने उससे पूछा कि कहीं चलते है, तो वो भी मान गई, लेकिन उस टाईम 12 बज रहे थे। अब उस टाईम ना तो हमें फिल्म का टिकट मिलना था और ना ही हम किसी गार्डन में जा सकते थे क्योंकि मुंबई में 11:45 तक सारे सिनेमा में शो स्टार्ट हो जाते है और गार्डन में इसलिए नहीं जा सकते है क्योंकि वहाँ पर गर्मी बहुत होती है। तो फिर मैंने कहा कि मेरे रूम पर चलते है, लेकिन वो मना कर रही थी और कह रही थी कि मुझे डर लगता है कि कही कुछ हो गया तो। लेकिन मैंने उसे तसल्ली दी और कहा कि अगर तुम्हें मुझसे प्यार है और अगर तुम मुझ पर भरोसा करती हो तो चल सकती हो, नहीं तो में ऑफीस जाता हूँ और तुम घर जाओ। तो इस पर वो बोली कि तुम मेरी कसम खाओ कि तुम ऐसा वैसा कुछ नहीं करोगे, तो मैंने उसकी कसम खा ली, तो वो तैयार हो गई। अब में रास्ते में सोचता रहा कि कसम तो खाली, लेकिन में उसको चोदूंगा कैसे?

फिर जब में और वो मेरे रूम पर पहुँचे तो में दरवाजा बंद करने लगा, तो वो बोल पड़ी कि दरवाजा क्यों बंद कर रहे हो? तो मैंने कहा कि अगर कोई देख लेगा तो क्या कहेगा कि कौन है? और मैंने दरवाजा बंद कर दिया। फिर उसके बाद में बेड पर उसके साथ बैठ गया और फिर हम दोनों बातें करने लगे। फिर मैंने बातें करते-करते उसके कंधे पर अपना एक हाथ रखा और उसके लिप्स पर किस करने लगा जैसे कि हम दोनों सिनेमा और गार्डन एट्सेटरा में करते थे, लेकिन हमारा ये किस 15 मिनट तक चलता रहा और फिर मैंने उसके बूब्स पर अपना एक हाथ फैरना शुरू कर दिया, तो उसने मेरा कोई विरोध नहीं किया। अब में अपने एक हाथ से धीरे-धीरे उसकी नाभि से होता हुआ उसकी चूत को उसकी सलवार के ऊपर से सहलाने लगा था। अब मेरे लिप्स उसके लिप्स से किस कर रहे थे और एक हाथ उसके बूब्स पर और एक हाथ उसकी चूत पर था।

अब में धीरे-धीरे उसकी गर्दन और उसके बाद उसके बूब्स को उसकी कमीज़ के ऊपर से सक करने लगा था, तो उसके मुँह से अजीब-अजीब सी आवाजे आने लगी, तो में समझ गया कि अब वो गर्म हो चुकी है। फिर उसके बाद मैंने धीरे-धीरे अपना एक हाथ उसकी कमीज़ के अंदर डाल दिया और उसकी ब्रा के ऊपर से उसके बूब्स को दबाने लगा और बाद में मैंने उसकी कमीज़ उतार दी। तो वो कुछ नहीं बोली क्योंकि अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी, उसने सेक्सी लेस ब्लेक कलर की ब्रा पहन रखी थी और अब वो अपने बूब्स अपने दोनों हाथों से छुपाने लगी थी। तो मैंने टाईम ख़राब नहीं करते हुए उसे दुबारा से किस करना शुरू कर दिया और उसकी ब्रा के ऊपर से उसके बूब्स को सहलाता रहा और फिर उसकी पीठ पर अपना एक हाथ ले जाकर उसकी ब्रा का हुक भी खोल दिया। अब वो मेरे सामने बिल्कुल टॉप लेस थी। फिर मैंने उसे बेड पर लेटाया और उसके बूब्स सक करने लगा। फिर मैंने 20 मिनट तक उसके बूब्स सक करने के बाद उसकी सलवार की तरफ अपना हाथ बढ़ाया और उसका नाडा खोल दिया और उसके बूब्स को सक करना स्टार्ट रखा।

Updated: October 20, 2018 — 8:59 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: