हॉट भाभी की मस्त गांड-2

hindi sex story उसने पेंटी नही पहन रखी थी. सो मेरी उंगली आसानी से सलवार के उपर से ही उसकी चूत में जा रही थी. वो बहुत ज़ोर से आवाज कर रही थी.. ह. हहानं… आओ…. आहह.. आओ.. जोर से… वो ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी. फिर मैने धीरे-2 नीचे की और आते हुए उसकी चूत के उपर मूँह रख दिया. चूत पर मूँह रखते ही वो चिल्ला उठी आआहह ओओओ… चाटो ना जोरे से हहा… और मचलने लगी. अपनी गांड को इधर उधर घूमाने लगी. उसके ऐसा करने से मेरे लंड मैं भी सनसनी होने लगी थी।

फिर मैने अपनी पेंट खोली और अपना लंड उसके हाथ में थमा दिया. मेरा लंड अब तन के पूरा 90 डिग्री का हो गया था. मैने अपना लंड उसके हाथों पकड़ा दिया. उसने लंड पकड़ कर सीधा मूँह में डाल दिया और अंदर बाहर करने लगी. भाभी, आआ… और मेने धक्के मारने शुरू कर दिए.. अचानक मेरे लंड से पानी निकलकर उसके मूँह मैं चला गया और वो सारा पानी पी गई. फिर भी वो लंड को चूसती रही जब तक की वो दोबारा खड़ा नहीं हो गया. इस बीच मैं अपनी पैर की उंगली से उसकी चूत को रग़ड रहा था और उसका भी पानी सा निकल गया था. वो लंड को मूँह में लेकर म्म्म आस..प्प्प्प हुन्न्ं.. की आवाज़ें निकाल रही थी. और मेरे मूँह से भी आवाज निकल रही थी श आहह भाभी ओफफफफ तुम कितनी अच्छी हो… मेरा लंड दोबारा खड़ा हो चुका था. मैने उसको उठाकर उसकी चूत में एक उंगली डाल दी. वो ज़ोर से चिलाई आहह अब लंड डाल दो इंतज़ार नहीं होता करो ना उ….म्‍म्मा… जब मैने उसकी चूत मैं उंगली की वो मेरे लंड को ज़ोर से आगे पीछे करने लगी और ज़ोर से हिलाने लगी।

उसकी चूत पुड़ी की तरह फूली हुई थी. फिर मैने उसे अपना लंड मुह मे लेने के लिए बोला. उसने मना कर दिया. और बोलने लगी की मेरे से रहा नहीं जा रहा है जल्दी चोद दे ना.. मेरी चूत मैं आग लग रही है... वो ज़ोर से हाँफ रही थी. जैसे कई मिलो से दौड के आई हो. और हह म्म ओह आआआआआआअ डालो ना अंदर.. की आवाज कर रही थी. फिर मैने उसे लेटाया और उसकी गांड के नीचे तकिया लगाया. और उसके पैरों को फैलाया. फिर मैने अपना लंड उसके चूत पर डाल दिया. जब मेरा लंड का सुपाडा ही उसके चूत में गया था वो ज़ोर से चिल्लाने लगी. नही मुझे छोड़ दो… नही में मर जाउंगी… अपना लंड निकल लो… लेकिन मैने अनसुने के जैसा करते हुए एक ज़ोर का धक्का लगाया. वो और ज़ोर से चिल्लाई. फिर मैने उसके लिप्स पर किस करते हुए उसके मूह को बंद किया और धक्का लगाता गया. वो छटपटा रही थी. अपनी बदन को इधर से उधर करने लगी. लेकिन में माना नही. में धक्के पे धक्का लगाता गया।

उसके आँखों से आंसू निकल रहे थे. कुछ देर के बाद मेरा पूरा लंड उसके चूत में चला गया. फिर मैं कुछ देर के लिए उसके उपर ही पड़ा रहा. कुछ देर के बाद वो शांत हुई. और मुझे गालिया देने लगी. साले तूने यह क्या कर दिया. अपना लंड निकालो… मुझे नही चुदवाना… मैं उसके बोब्स को दबाने लगा और एक हाथ से उसके बालो और कानो के पास सहलाने लगा. कुछ देर के बाद मैने उसके कानो को भी चूमना सुरू कर दिया. फिर कुछ देर के बाद वो फिर से गर्म हो गयी. फिर मैने धीरे धीरे धक्का लगाना शुरू किया. पहले तो वो चिल्लाई लेकिन कुछ देर के बाद मैने पूछा मज़ा आ रहा है. वो बोली हां.. बहुत मज़ा आ रहा हे… और वो शोर करने लगी. कुछ देर के बाद मैं अपनी स्पीड बढ़ा दी. अब पूरी मस्ती में थी. और मस्ती में कह रही थी. हां म्म्म आआईई करो… बहुतं मजा आ रहा हे… वो इतनी मस्ती में थी की पूरा का पूरा वर्ड भी नही बोल पा रही थी।

मै अपनी स्पीड धीरे धीरे बड़ाता जा रहा था.. हाँ राजा… आई… सी… आआ.. ओर जोर से चोदो… फाड़ दो चूत को आज… आज कुछ भी हो जाए लेकिन मेरी चूत फ़ाडे बगैर मत छोड़ना.. आआआआः…. और ज़ोर से… उउउइइइइ….म्म्म्मा. अह…. ऐसे ही वो बोल रही थी. कुछ देर के बाद मेने पाया की मेरा लंड पानी से भीग रहा है. वो पानी छोड़ने वाली थी. वो नीचे से कमर उठा के चिल्ला रही थी. और बडबड़ा रही थी. हाआअ… और चोदो… मेरी चूत को आज मत छोड़ना… इसे भोसड़ा बना देना… और कुछ देर के बाद वो बोली में झडने वाली हूँ… में भी झडने के करीब पहुच गया था. क्युकी हम लोग 15-20 मिनट से चुदाई कर रहे थे. मैने बोला हाआआं भाभी में भी झरने वाला हूँ…और मेने उसकी गांड पकड़ कर अपनी स्पीड बड़ा दी।

वो कुछ देर के बाद झड़ गयी. में भी झरने के करीब आ गया था. कुछ देर के बाद में भी झड़ गया. वो मुझे कस कर बाहों मे जकड़ लिया. में भी उसके बोब्स के उपर पड़ा रहा. कुछ देर के बाद उसने मेरा और मैने उसकी चूत को साफ किया. भाभी बोली लास्ट मे तेरे अजय भैया का तो सिर्फ़ 5 इंच का हे एक दम छोटा हे 2 मिनट मे खेल खत्म हो जाता हे.. हमारी शादी को 2 साल हुए हे उनके काम के कारण आज तक इतनी ख़ुशी किसी ने नही दी. बाद मे हमने 2 बार सेक्स किया।

धन्यवाद ।

Updated: May 13, 2019 — 9:25 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: