कोई ऐसा अंजाना सा तूफान-24

gaand chudai ki kahani सुजाता : मेरे लंड को देखते हुए, क्या मैं इन कपड़ो मे बहुत अच्छी लग रही हू,
रवि : मोम तुम बहुत खूबसूरत लग रही हो तुम घर मे ऐसे ही कपड़े पहना करो
सुजाता : मुस्कुराते हुए, अच्छा अब मेरी उमर कहाँ है यह सब फ़ैशन करने की, ऐसे कपड़े तो रिया की पहनने की उमर है, मैने मोम की
नज़रे बचाते हुए अपने खड़े लंड को एक बार मसला और फिर मैने कहा मोम रिया दी और तुममे बहुत अंतर है रिया दी तो लड़कियों की तरह अभी छोटी है पर आप तो भरी पूरी औरत है, इसलिए आप पर यह कपड़े और भी ज़्यादा मस्त नज़र आते है,
सुजाता : मुस्कुराते हुए, मैं सब जानती हू बदमाश, आज कल तुझे औरते क्यो अच्छी लगती है, और तू मुझे ऐसे कपड़े सजेस कर रहा है जिसे पहन कर मैं बाहर निकलूंगी तो लोग मेरी इन मोटी मोटी जाँघो को और मेरे बड़े बड़े चुतडो को देख कर हसे

रवि : मोम आपकी जंघे और आपका बॅक साइड का हिस्सा देख लोग हसेन्गे नही बल्कि पागल हो जाएगे, मैने मोम का हाथ पकड़ कर कहा
सुजाता : मुस्कुराते हुए चल जाने दे मुझे, कही तू भी तो अपनी मोम को दूसरे मर्दो की तरह ही नही देखता है, कभी कभी तो तुझे देख कर ऐसा ही लगता है, मोम ने मेरे खड़े लंड को देखते हुए अपनी बात पूरी की
रवि : क्या लगता है मोम
सुजाता : यही कि तेरी भी निगाहे कही अपनी मोम के बड़े बड़े चुतडो और मोटी मोटी जाँघो पर तो नही रहती है

इतना कह कर मोम सामने के ड्रेसस्सिंग टेबल पर खड़ी होकर अपने आप को देखने लगी मैं उनकी बात सुन कर खड़ा हो गया और मोम की मोटी गान्ड से अपने खड़े लंड को सटा कर उनसे चिपकते हुए कहा, मोम जिसकी मोम इतनी सुंदर और गदराई हुई होगी वह बेटा भी अपनी मोम को हर तरह से और हर रूप मे देखना चाहेगा, इतना कह कर मैने अपने लंड को मोम की गान्ड मे लगा कर उनके चुतडो को दबाया, मोम अंजान बनते हुए मिरर मे अपने चेहरे को देख कर टवल से साफ करते हुए कहने लगी,

सुजाता : क्यो मोम क्या उनकी गर्ल फ्रेंड या बीबी होती है जो वह अपनी मोम की ही जवानी को देखते है और खास कर अपनी मोम के चुतडो को
मैने मोम के पेट मे हाथ लगा कर उन्हे पीछे से हग करते हुए कहा मोम, एक बेटे को तो उसकी मोम उनकी गर्लफ्रेंड और बीबी से भी ज़्यादा खूबसूरत लगती है, इसीलिए तो सब बेटे अपनी मोम की तरह ही बीबी पसंद करते है,

सुजाता : लेकिन कई बेटे तो बीबी आने के बाद भी अपनी मोम के चुतडो को घूरते रहते है, और सुजाता ने अपनी फूली हुई चूत को आगे हाथ लेजा कर हल्के से दबाया, उसकी चूत तो पहले से ही अपने बेटे के मोटे और तगड़े लंड को देख कर पनियाने लगी थी लेकिन अब उसकी गान्ड मे अपने बेटे के खड़े डंडे जैसे लंड की चुभन ने उसकी अंगूर के दाने के बराबर खड़े तने को भी फड़फड़ाने पर मजबूर कर दिया था,
मोम ड्रेसिंग टेबल पर पड़ी आंटिसेपटिक क्रीम उठाने के लिए झुकी जिससे उनकी गुदाज मोटी गान्ड और भी खुल कर मेरे सामने आ गई और मैने मोम की कमर को कस कर पकड़ते हुए अपने लंड को कस कर मोम के भारी चुतडो पर दबाया और मोम के मूह से हल्की सी सिसकी निकल गई तभी बाहर से रिया दी की गाना गुनगुनाने की आवाज़ आई और मैने मोम को छोड़ दिया और मोम ने कंघा उठा कर अपने बाल सवारना शुरू कर दिए,

मैने अब जल्दी से टवल लपेट लिया और लोड्े को कुछ ऐसा अड्जस्ट किया कि रिया दी को लंड खड़ा ना दिखाई दे, तभी रिया दी अंदर आ गई और
रिया : मुस्कुराते हुए, ये हुई ना बात मोम अब लग रहा है कि तुम मेरी मोम नही बड़ी दी हो, सच मोम ऐसे बाहर ना चली जाना वरना और फिर रिया दी ज़ोर से मुस्कुराने लगी
सुजाता : मंद मंद मुस्कुराते हुए, चुप कर रिया, जवान भाई का तो थोड़ा लिहाज कर
रिया : अरे इसका क्या लिहाज करू, यह तो खुद दिन भर कॉलेज की लोंड़ीयों के पीछे……फिर रिया दी ने मेरी ओर देखा और कहा बता दू
रवि : मोम ये रिया दी को तो मोका चाहिए बस मेरी खिचाई करने का,
रिया : चल चल अब ज़्यादा भोला ना बन और जा नहा ले, मुझे मोम से ज़रा प्राइवेट बात करनी है
रवि : मुझे भी बताओ ना दी
रिया : आँखे दिखाते हुए, देखा मा इसे औरतो की बाते सुनने मे कितना मज़ा आता है, बेशरम कही का चल अब जा

Updated: June 26, 2018 — 12:13 am
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme