मैडम ने मुझे पहचान लिया-2

antarvasna अब उन्होंने अपना एक हाथ मेरे टावल के अंदर डालकर मेरा लंड पकड़ लिया और वो उसको अपने नरम हाथ से सहलाने लगी थी। दोस्तों उस स्पर्श को पाकर मेरा लंड तनकर खड़ा हो गया, तभी मेडम मुझसे कहने लगी कि मुझे पता है कि आदित्य तुम अब तक जाग रहे हो, मेरी तरफ देखो। फिर मैंने अपनी आंखे खोली और में बड़ी ही हैरत से मेडम की तरफ देखने लगा। अब मेडम मुझसे कहने लगी कि मेरे पति की मौत को पूरे सात साल हो गये है, जब से आज तक मैंने ना तो सेक्स किया है और ना ही सेक्स के बारे में सोचा है, क्योंकि मेरे मायके वाले बहुत सख़्त है, लेकिन आज जब तुमने मेरे गुप्तांगो को छुआ, तब सात साल के बाद आज दोबारा से मेरी सेक्स की भूख जाग गयी। फिरमैंने तुम्हें उस समय इसलिए मना कर दिया था कि में खुद नहीं सोच पा रही थी कि तुम्हारे साथ यह सब ठीक रहेगा या नहीं? फिर मैंने बहुत सोचने के बाद यह फ़ैसला लिया है कि तुम मेरे साथ यह सब करने के लिए सबसे अच्छे हो और फिर इतना कहकर मेडम ने तुरंत ही मेरे होंठो पर अपने होंठ रख दिए। अब मैंने भी हिम्मत करके मेडम की तरफ करवट ले ली और उन्हें अपनी बाहों में भर लिया और फिर मैंने उनको कहा कि मेडम मुझे कुछ नहीं आता।

तब मेडम बोली कि में तुम्हे सब कुछ सीखा दूँगी और फिर मेडम ने अपनी नाइटी को उतार दिया, मैंने देखा कि उनकी ब्रा में केद बूब्स अब बाहर आने के लिए मचलने लगे थे। फिर मेडम कहने लगी कि अब बाकी के कपड़े तुम्हें उतारने है, चलो अब मेरे बूब्स को दबाओ। अब मैंने मेडम के बूब्स को दबाते हुए उनकी पीठ पर अपना एक हाथ ले जाकर उनकी ब्रा को खोल दिया और में मेडम के गोलमटोल बूब्स को देखकर एकदम पागल हो गया। फिर मेडम कहने लगी कि चल अब निप्पल को मुहं में लेकर तू इसका मेरा सारा का सारा दूध पी जा। अब मैंने उनके एक बूब्स के हल्के भूरे रंग के निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और में उसको चूसने लगा, जिसकी वजह से मेडम के मुँह से सस्सस्स आह्ह्ह ऊह्ह्ह की आवाजे निकलने लगी थी। फिर में निप्पल को चूसते हुए अपने एक हाथ से उनका दूसरा बूब्स भी दबाने लगा, जिसकी वजह से वो जोश में आकर कहने लगी हाँ चूस मेरे बूब्स को और ज़ोर से चूस मादरचोद आज तू इनको खा ले हाँ और ज़ोर से दबा, मार दे मुझे जालिम। अब में मेडम की उत्तेजना को देखकर और भी जोश में आ गया था। फिर मेडम बोली कि तू बहुत अच्छा चूसता है और क्या उतना ही अच्छा चाटता भी है? चल अब मेरी पेंटी को उतार। फिर मैंने यह बात सुनकर तुरंत ही मेडम की पेंटी को उतार दिया, जिसकी वजह से मेडम की झाटो वाली चूत अब मेरे सामने थी।

फिर मेडम मुझसे बोली कि देख क्या रहा है? मादरचोद चल इस पर अपना मुँह रख और इसको चाटना शुरू कर यह इस पूरी दुनिया की बहुत कीमती जगह है और फिर उन्होंने मेरे बाल पकड़कर मेरा मुँह अपनी चूत पर रख दिया। अब में अपनी जीभ से उनकी चूत को चाटने लगा, मैंने पहली बार चूत को चाटा था और वो बहुत ही मस्त अनुभव था जिसको में किसी भी शब्दों में लिखकर नहीं बता सकता, इसलिए में मन ही मन वो सब करके बड़ा खुश था। फिर मेडम कहने लगी कि क्या ऊपर ही चाटेगा खजाना तो इसके अंदर है और यह बात कहते हुए उन्होंने अपने एक हाथ से अपनी चूत के होंठो को खोल दिया, तब मैंने देखा कि उनकी चूत अंदर से एकदम गुलाबी थी। फिर मैंने अपनी जीभ को उनकी चूत के अंदर डाल दिया और में उसको अंदर बाहर करने लगा, वो बड़ा ही अजीब सा मज़ा था। अब जोश मज़े मस्ती की वजह से मेडम बड़बड़ा रही थी, ऊह्ह्ह ऊफ्फ्फ्फ़ मार डाला हाँ और तेज कर मादरचोद और कर ऊऊईईईईई आह्ह्ह मज़ा आ गया और फिर यह सब कहते हुए मेडम एकदम से अकड़ने लगी और उसकी चूत से पानी निकलने लगा। अब मैंने अपना मुँह उनकी चूत से दूर हटाना चाहा, लेकिन मेडम ने मेरे बाल कसकर पकड़ लिए, जिसकी वजह से मेरे पूरे मुँह पर मेडम की चूत का पानी लग गया। फिर 30 सेकिंड के बाद मेडम ने मेरा सर छोड़ दिया और में तुरंत पीछे हटकर सीधा बैठ गया।

अब मैंने मेडम से कहा कि यह आप कैसा सेक्स करती हो? मुझे तो इसके बारे में पहले से कुछ भी नहीं पता यह तो बड़ा ही अजीब सा काम है। फिर उसी समय मेडम बोली कि चुप हो जा मादरचोद कुत्ते अभी क्या? अभी तो में तुझे अपना पेशाब भी पिलाऊँगी और में भी तेरा पेशाब पिऊँगी, क्योंकि यही तो असली सेक्स है मेरे राजा और फिर मेरा लंड पकड़कर वो उसको अपनी जीभ से चाटने लगी और अब मेरे लंड को अपने मुँह में भरकर आगे पीछे करने लगी। अब मुझे बड़ा मस्त मज़ा आ रहा था, कुछ देर बाद जैसे ही मेरा वीर्य निकलने वाला था, मैंने मेडम से कहा कि आप अब अपना मुँह दूर हटा लो। फिर मेडम ने मेरी बात को सुनकर तुरंत मेरे लंड को पहले से ज्यादा अंदर अपने मुँह में भर लिया, जिसकी वजह से में उनके मुहं में झड़ गया और वो चूसते हिलाते हुए मेरा सारा वीर्य पी गयी। फिर जब उसने मेरा लंड अपने मुँह से बाहर निकाला और वो खुश होकर मुस्कुराकर मुझसे कहने लगी कि वाह तेरा तो बहुत मज़ेदार स्वादिष्ट वीर्य था, मुझे इसको चूसकर बड़ा मस्त मज़ा आया। दोस्तों मुझे उनके साथ अब उन सभी कामों में बहुत मज़ा आ रहा था, मेरी खुशी का कोई ठिकाना नहीं था। अब मेडम मुझसे कहने लगी कि चलो अब हम बाथरूम में चलते है और में मेडम के साथ बाथरूम में चला गया।

फिर मेडम मुझसे पूछने लगी क्या तुम्हे पेशाब करना है? तब मैंने झट से हाँ कह दिया। अब मेडम कहने लगी कि तुम मेरे मुँह में पेशाब करना शुरू करो और वो इतना कहकर अपना मुँह पूरा खोलकर मेरे सामने बैठ गयी। फिर मैंने भी बिना देर किए अपनी धार को उसके मुँह में मारना शुरू कर दिया, वो मेरा आधा पेशाब पी गयी थी और आधा उसके मुँह से निकलकर उसके बूब्स से होता हुआ, उसकी चूत से नीचे टपकने लगा था। फिर जब में पेशाब चुका था, तब मेडम बोली कि अब मेरी बारी है और अब तुम नीचे बैठ जाओ, में भी यह बात सुनकर नीचे बैठ गया। अब मेडम ने मेरे बालों को पकड़कर अपने पैरों को पूरा फैलाया और मेरे चेहरे पर अपना निशाना लगाते हुए मेडम ने पेशाब करना शुरू कर दिया। अब उसका गरम पेशाब मेरे चेहरे से होता हुआ जमीन पर टपक रहा था, लेकिन मैंने उसका पेशाब नहीं पीया। फिर जब हम दोनों कुछ देर बाद बाथरूम से बाहर आए, तब मेडम मुझसे बोली कि सेक्स का मज़ा तो तभी है जब खुलकर सेक्स किया जाए और गंदी गालियों का प्रयोग भरपूर किया जाए, तुम मुझे कुछ भी बुला सकते हो, गालियाँ दे सकते हो चलो अब पलंग पर चलते है। अब मेडम मुझसे बोली कि अब हम दोनों 69 आसन में मज़े लेते है।

फिर मैंने उनको पूछा कि मेडम यह 69 आसन क्या होता है? तब मेडम बोली कि तुझे अभी सब पता चल जाएगा बस तू नीचे लेट जा, में वो बात सुनकर पलंग पर लेट गया। अब मेडम ने मेरे चेहरे की तरफ अपने दोनों पैर किए और वो अपनी चूत को मेरे मुँह के पास ले आई और मेरे लंड को अपने हाथ से हिलाने लगी और कहने लगी कि चल कुत्ते मेरी चूत को चाट जैसे कोई कुत्ता किसी कुतिया की चूत को चाटता है। फिर वो इतना कहकर मेरे मुरझाए हुए लंड को ऐसे चूसने लगी जैसे वो लंड ना होकर कोई लॉलीपोप हो। अब में भी खुश होकर मेडम का साथ देते हुए उनकी चूत और गांड को अपनी जीभ से चाटने लगा और कुछ देर तक चाटने के बाद में मेडम के ऊपर आ गया। फिर मैंने एक धक्का ज़ोर से लगा दिया, जिसकी वजह से मेरा पूरा लंड मेडम के मुँह में समा गया और मेडम दर्द से छटपटाने लगी थी। अब मैंने उनकी वो हालत को देखकर अपना लंड वापस बाहर निकाल लिया, जिसकी वजह से मेडम को थोड़ा सा आराम मिल गया और मेडम मुझसे कहने लगी कि मादरचोद मुझे मारने का विचार है क्या? तब मैंने उनको कहा कि कुतिया तुझे चाटने का बहुत शौक है ना, ले में आज अपने लंड को तेरे हलक तक डालकर तुझसे चटवाऊँगा।

Updated: January 23, 2019 — 11:10 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: