मेरा 8 इंच का लंड-1

desi kahani: हाय दोस्तों सबसे पहले अपने बारे मे बता दूँ मेरा नाम आर्यन है मेरी हाइट 5’11″ है और मेरा लंड 8 इंच का है अभी मैं ग्रेजुयेशन कर रहा हूँ 12 वी से IInd ईयर तक मेरे एक गर्लफ्रेंड थी लेकिन फिर उससे ब्रेकअप हो गया था कॉलेज के IIIर्ड ईयर मे सेक्स की कमी की वजह से मुझे हर तरह की लड़कियाँ और आंटीयां पसंद आने लगी मैं एक माल पर रोज जाना चाहता था और लड़कियों और आंटीयो को देखते देखते मुझे वो कुछ ज़्यादा ही पसंद आने लगी थी मटकती गांड देखते ही मेरा लंड तन जाता था.

एक दिन मेरा फोन खराब हो गया तो मैं वही पर ही कस्टमर केयर गया टोकन ले कर मैं बैठा हुआ था और अपने नम्बर का वेट कर रहा था तभी मैने देखा वहाँ 3 काउंटर थे 2 काउंटर पर मेल वर्कर्स थे और एक काउंटर पर फीमेल वर्कर थी उसका नाम बाद मे बताता हूँ मैने देखा वो थोड़ी सी मोटी थी लेकिन उसके बूब्स बहुत बड़े थे कस्टमर केयर वालों की यूनिफॉर्म काफ़ी फिट थी इसी वजह से उसके बूब्स फट के बाहर आ रहे थे मेरा नम्बर तब तक नही आया था मैं भगवान से प्रार्थना करने लगा की मेरा नम्बर उसके काउंटर पर आये मेरा नम्बर आने मे 2 लोग और बाकी थे तभी वो अपनी सीट से उठ गई और साइड वाले काउंटर पर कुछ डिसकस करने चली गई अब वो जैसे खड़ी थी मुझे उसकी ब्रा की स्ट्रीप और उसकी सेक्सी सी मोटी गांड दिख रही थी उसकी पेन्ट उसकी गांड के अन्दर घुसी हुई थी मेरा 8 इंच का लंड तब ही खड़ा हो गया.
मेरा मन कर रहा था अभी पीछे से जाकर उसकी गांड मे अपना लंड डाल दूँ लेकिन फिर एकदम से मुझे टेन्शन हुई की मेरा नम्बर तो आने वाला है अगर वो वापस नही बैठी तो मैं क्या करूँगा लेकिन जैसे भगवान को कुछ और ही मंजूर था मेरा नम्बर जैसे ही आया सिर्फ़ उसका काउंटर खाली था मैं वहाँ जाकर बैठ गया उसने पूछा “यस सर, हाउ केंन आई हेल्प यू? “मैने कहा शिल्पा, एक्च्युयली मेरे नम्बर पर अनवॉंटेड सर्विस सबस्क्राइब हो गई है मुझे वो बन्द करवानी है वो शॉक्ड हो गई और बोली आपको मेरा नाम कैसे मालूम मैने उसके बूब्स के उपर लगी नेंम प्लेट पर इशारा कर दिया वो शरमाई और मुस्कुरा दी.

फिर उसने मेरी प्रोब्लम सॉल्व की और थैंक्यू बोला मैं परेशान सा वापस आ गया उस रात मैने घर आते ही मास्टरबेट किया शिल्पा के बारे मे सोचते हुये पूरी रात और अगले दिन दोपहर तक मैं उसके बारे मे सोचता रहा फिर मैने प्लान बनाया की कैसे शिल्पा को पटाऊ अब मैं रोज एक सर्विस सबस्क्राइब करता और वोडोफोन कस्टमर केयर पहुँच जाता ऐसे करते करते मुझे 7 दिन हो गये लेकिन मैं शिल्पा से कुछ ज़्यादा बाते करने की हिम्मत नही जुटा पाया हालाँकि 4 दिन के बाद जब भी मैं जाता वो मुस्कुरा देती थी फाइनली एक हफ्ते बाद मैं 2-3 दिन तक कस्टमर केयर नही गया.
3 दिन बाद जब वापस पहुँचा तो वो हंस पड़ी और बोली “क्या हुआ आर्यन? 3 दिन तक आये नहीं” मैं भी हंस दिया और बोला” शिल्पा, ये तो बहाना था क्या तुम मेरे साथ एक कॉफी शेयर करना चाहोगी” वो मुस्कुराई और बोली इतने अच्छे कस्टमर को ना नही बोलते उसने लंच ब्रेक मे मिलने का वादा किया वो लंच ब्रेक में आई और हमने खूब बातें करी अगले एक हफ्ते तक हम रोज लंच ब्रेक मे कॉफी पीते और बाते करते हमारी अच्छी दोस्ती हो गई थी सन्डे को मैने उससे मूवी चलने को पूछा उसने हाँ कर दी हम ‘रेस’ मूवी देखने जा रहे थे उसने वाइट पंजाबी सूट पहना था वो बहुत सेक्सी लग रही थी मूवी मे काफ़ी हॉट सीन थे ऐसे ही एक बिपाशा और सैफ के सीन में मैने उसकी तरफ देखा तो वो मुस्कुरा दी मूवी ख़त्म होते होते रात के 9 बज गये थे हमने फिर पिज़्ज़ा हट मे खाना खाया और बातें करते करते कब 10:30 हो गये हमें पता ही नही चला जैसे ही शिल्पा ने घड़ी देखी वो बुरी तरह घबरा गई और कहने लगी की उसकी आंटी उसे बहुत डाटेगी.

मैने उसे काफ़ी समझाया लेकिन वो रोने लगी तो मैने उससे कहा की तुम उन्हे कह दो की आज तुम अपनी एक दोस्त के यहाँ रुक रही हो और मेरे घर रुक जाना क्योकी हम सिर्फ़ दोस्त थे तो उसे दिक्कत भी नही हुई शिल्पा ने ऐसा ही किया अब जब हम घर आ रहे थे तो मानसून होने के कारण बारिश होने लगी धीरे धीरे बारिश इतनी बड गई की घर पहुँचते पहुँचते हम पूरी तरह से भीग गये थे घर पर लाइट भी गई हुई थी मैने मोबाइल की रोशनी में ताला खोला और शिल्पा को अंदर चलने को बोला दरवाजा बन्द करके मैं जैसे ही अंदर आया और शिल्पा को देखने के लिये मोबाइल की लाइट चालू की तो मैने देखा की वो अपनी चुन्नी निचोड़ रही थी भीगे होने की वजह से और वाइट सूट की वजह से उसकी ब्लेक ब्रा साफ दिख रही थी.

Updated: October 9, 2019 — 8:23 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: