मेरे लंड का टोपा

bhabhi sex stories हेल्लो दोस्तो मेरा नाम राज हे ओर में आज आपको अपनी ओर अपनी भाभी की कहानी बताने जा रहा हूँ जिसमे मेने उन्हे नींद की गोली खिलाकर चोदा ओर ये मेरी पहली चुदाई का अनुभव था. मेरी भाभी का नाम पूनम था जो दिखने मे एकदम गोरा बदन था उनके फिगर के बारे मे तो में

आपको कहानी के वक्त ही बताऊंगा लेकिन वो दिखने मे एसी थी की अगर कोई उन्हे देख ले तो मरता हुआ आदमी भी उठकर उन्हे चोदने की सोचे. तो दोस्तो पूनम भाभी मेरे भाई यानी ताऊ के लड़के की पत्नी हे मेरे भाई की जॉब दिल्ली थी इसलिए वो वही पर मकान लेकर रहते थे कभी कभी ही वो गावं आते थे मेरी ओर मेरी भाभी की बहुत पटती हे. एक बार मेरा भाई भाभी के साथ गावं आया तो सब बहुत खुश थे. मेरे ताऊ जी का घर हमारे घर से काफ़ी दूर था तो में भाभी से मिलने चला गया. भाभी भय्या मुझे देखकर बहुत खुश हुए और मुझे अंदर बेठाकर कोल्डड्रिंक दिया. मेरी नज़र भाभी पर गई तो देखा वो अब पहले से भी ज्यादा सुंदर दिखती हे।

में नज़र बच्चाकर बार बार उन्हे ही देख रहा था. में बस यही सोच रहा था की केसे भाभी को चोदा जाए. उस वक्त मेरी उम्र 22साल की थी ओर भाभी की करीब 32होगी. में फिर भय्या को बोल कर ताऊजी के पास चला गया. ताऊजी दूसरे घर मे रहते थे वहा से में फिर सीधा मेडिकल स्टोर पर गया ओर वहा से नींद की गोली खरीदी. मेडिकल स्टोर वाला लड़का मेरा अच्छा दोस्त था इसलिया उसने मागने पर तुरंत मुझे नींद की गोली दे दी. में उन्हे लेकर घर आ गया. मेने ओर भय्या ने साथ मे खाना खाया ओर फिर बाहर ब्रामदे मे ही भाभी ने 3 चारपाई बिछा दी ओर उन पर हम तीनो लेट गए ओर बाते करने लगे. फिर मेने भाभी से कहा की भाभी जी ज़रा चाय बना लो तो भय्या ने कहा हां ठीक हे मेरी भी बना लो ओर अपनी भी बना लो भाभी चाय बनाने चली गई. तभी मेने चुपके से अपना फ़ोन निकाला वो नंबर किसी के पास नही था उस नंबर से भाभी के फोन पर फोन किया भाभी चाय को छोड़कर किचन से बाहर फोन उठाने आ गई. तभी में जल्दी से किचन मे गया ओर तीनो कप मे 4 =4 गोली डाल दी ओर बाहर आ गया।

 

भाभी चाय लेकर आई ओर एक एक कप तीनो ने ले लिया. मेने अपना चाय का कप नीचे रख दिया ओर बोला की चाय ठंडी होने के बाद पीऊंगा ओर फिर थोड़ी देर मे सो गया. मतलब सोने का नाटक करने लगा. भाभी बोली की चाय भी नही पी ओर सो गया. भय्या बोले कोई बात नही ये चाय मुझे दे दो मे पी लेता हूँ… ओर भय्या उस चाय को भी पी गए. भय्या भाभी ने सोचा की में सो रहा हूँ ओर वो दोनो आपस मे रोमान्स करने लगे लेकिन नींद की गोली उन पर हावी हो गई ओर वो दोनो अपनी अपनी खाठ पर जाकर सो गए. करीब 30 मिनट बाद में उठा ओर चेक करने के लिए भाभी को आवाज़ देने लगा लेकिन कोई उत्तर नही मिला. भय्या को हिला कर जगाने की कोशिस की लेकिन वो गहरी नींद मे थे उस वक्त भाभी ने साड़ी डाली हुई थी. में उनकी खाठ पर आ गया ओर झुक कर उनके होंठो पर किस किया. ये सब मुझे सपने जेसा लग रहा था. उनके होंठो पर लिपस्टिक लगी थी जिसका स्वाद बहुत अच्छा था. उनकी सांसो के साथ ही उनकी चुचि भी उपर नीचे हो रही थी. मेने उनके सिने से उनकी साड़ी को हटाया ओर उनके ब्लाउज का बटन खोलने लगा ओर उनके ब्लाउज के साथ उनकी ब्रा को भी हटा दिया. उनके बोब्स बिल्कुल गोल थे ओर टाइट थे उनको अभी तक बच्चा नही हुआ था इसलिए उनका फिगर एक दम मस्त थे उनकी गोल गोल चुचि को मेने अपने मूह मे ले लिया ओर चूसने लगा भाभी कसमसा रही थी. लेकिन वो पूरी तरह नींद मे थी। 

फिर मे उनके गले पर किस करने लगा ओर नीचे की तरफ आने लगा ओर उनकी नाभि को भी अपनी जीभ से चाटने लगा उनका बदन बिल्कुल गोरा था. मेरा लंड भी बिल्कुल तना हुआ था जो अब तनकर पूरा 6 इंच का हो गया था. मेने अपने कपड़े उतार दिए ओर भाभी के उपर लेट गया ओर जेसे ही मेरी छाती भाभी के बोब्स से टकराई मे हवा मे उड़ता हुआ महसूस करने लगा. मुझे बहुत मज़ा आने लगा. मेने फिर खड़े होकर भाभी के मूह पर दोनो तरफ टांग करके बेठ गया ओर अपना लंड भाभी के मूह मे डाल दिया. भाभी का मूह बंद था लेकिन में एक हाथ से उनके मूह को खोला ओर लंड मूह मे डाल दिया. मेरे छोड़ते ही उनका मूह फिर से बंद हो गया मे उनके मूह मे ही लंड आगे पीछे करने लगा. जिससे मेरा पानी निकलने लगा जिसे मेने भाभी के मूह मे ही छोड़ दिया. भाभी को एक दम ख़ासी होने लगी. में जल्दी से भाभी के उपर से हट गया. थोड़ी देर बाद भाभी फिर सामने होकर सोने लगी मे अब उनके पेटीकोट को खोलने लगा। 

जेसे ही पेटीकोट निकाला उनकी झाटो से बरी हुई चूत मेरे सामने आ गई. मेने पहली बार चूत देखी थी में झुककर उसे चाटने लगा ओर अपनी जीब को उसमे डालने लगा. भाभी की चूत से खुशबु आ रही थी. मुझसे अब नही रुका जा रहा था तो मे उनके उपर आ गया ओर उनकी चूत के नीचे एक तकिया लगाया जिससे उनकी चूत उपर आ गई ओर उनके दोनो हाथ पीछे ले जाकर पकड़ लिए ओर अपने लंड को उनकी चूत पर टीका दिया. उनकी चूत बहुत ही गर्म थी ओर गीली भी हो गई थी. मेने तोड़ा सा धक्का मारा लेकिन मेरा लंड फिसल गया. मेने फिर से लंड को जगह पर लगाया लेकिन फिर से मेरा लंड फिसल गया. तभी मेरे कानो मे आवाज़ आई अरे जल्दी कर क्यू तडपा रहा हे… मेने जेसे ही उपर देखा तो वो आवाज़ भाभी की थी भाभी को जगा देखकर मेरी हवा खराब हो गई थी भाभी बोली डर मत तेरे भाई के बस की तो हे नही वो तो कुछ करते नही.. तू ही मेरी प्यास भुजा दे… डाल दे अपना लंड मेरी चूत मे… ओर भाभी आई उउउइई की आवाज़ करने लगी सीईइ मर गइइ..  

में बोला भाभी मेने तो आपको नींद की गोली दी थी भाभी बोली तो क्या दो गोली से पूरी रात चोदेगा एक तो मेरे उपर आकर पड़ा हे सारा वजन मुझ पर डाल रहा हे में नही जगुगी तो क्या करूंगी.. अब जल्दी कर.. भाभी अंदर जा ही नही रहा… भाभी बोलि की किचन से तेल ले आ.. मे तेल ले आया ओर उनकी चूत पर लगाया ओर अपने लंड पर लगाया. फिर मेने जेसे ही अपना लंड भाभी की चूत पर रखा भाभी सिरहा उठी आआईयइ ई डाल दे अंदर… लेकिन जेसे ही मेने धक्का मारा लंड फिर से फिसल गया अब की बार भाभी ने अपनी चूत को दोनो हाथो से खोल लिया ओर मेने अपना लंड बिल्कुल चूत पर लगाया ओर हल्का सा ही धक्का मारा ओर मेरे लंड का टोपा उंड़र चला गया. भाभी मे मूह से सिसकारी निकल गई।  

फिर मेने दूसरा धक्का मारा भाभी के मूह से चीक निकल गयी मेने भाभी के दोनो हाथ पीछे करके पकड़ लिए ओर तीसरे झठके मे पूरा लंड अंदर डाल दिया. भाभी के चेहरे से लग रहा था की उन्हे दर्द के साथ मज़ा बहुत आ रहा था. फिर मे लंड से धक्के देने लगा. भाभी झड़ गयी ओर उनकी चूत बिल्कुल चिकनी हो गयी थी. मेरा लंड बड़े प्यार से अंदर बाहर हो रहा था ओर फिर में भी झड़ गया ओर नंगा ही भाभी के चुचियो मे मूह देकर उनके उपर सो गया।  

Updated: June 30, 2019 — 9:20 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: