मेरी वाइफ बिनल-10

desi sex stories फिर अचानक बिनल ने कहा” सर् दुपहर हो गई है मुझे भीख लगी है क्यों न हम लंच के लिए कही पे रुके?

विकी सर् ने कहा “हा सही बात है मुझे भी कुछ खाना पड़ेगा कबसे लगातार ड्राइव कर रहा हु।

उन्हों ने एक हाइवे होटेल पे कार स्टॉप की और लंच के लिए बैठे। बिनल विकी सर् के ठीक सामने बेठी थी उसने अपने हाथों को टेबल पे रखा था उसके शार्ट मंगलसुत्र नीचे की और उसके स्तन की गली दिख रही थी विकी सर् वो देख रहे थे , बिनल अपने खुले बालो को बांध ने के लिए अपने हाथो को ऊपर की और करके बालो को संवारने तभी उसके स्तन कभी ऊपर तो कभी नीचे हो रहे थे ,विकी सर् वो देख रहे थे, अचानक बिनल की नजर उन पर पड़ी और उसकी आंखें और हाथ दोनो शर्म से नीचे हो गए , और विकी सर् ने भी अपनी शर्मिंदा होकर अपनी नजर होटल के मेनू पे टिका दी।

और आर्डर देने के लिए वेटर को बुलाया उन्हों ने बिनल से पूछा “तुम क्या खाओगी “

बिनल ने कहा “आप कुछ भी मंगवलो में मैनेज कर लुंगी”

विकी सर् ने flirting करते कहा “तुम मैनेज करने सिक्ख रही हो चलो मेरे लिए तो बहुत अच्छी बात है”(हंसते हुए कहा)

बिनल ने भी उनको देख के अपनी आंखों को बड़ी करके मजाक करते हुए हँस दिया।

विकी सर् ने कहा “ देखो लंचसे पहले में एक बियर पीना चाहूंगा क्या तुम पियोगी ?”

बिनल ने कहा “बियर और अभी नही नही में तो कभी कभी ही हसबैंड के साथ पीती हु और मुझे तो जल्दी नशा हो जाता है।

विकी सर् ने कहा “ अरे कुछ नही होगा और हमे अभी बहुत लंबा सफर काटना है तो थक जाओगी थोड़ी सी पी लो”

बिनल माना करती रही लेकिन विकी सर् ने बहुत फ़ोर्स किया और मना करने पर भी उन्हों ने बिनल के लिए एक बियर मंगवाली और बिनल को भी उनके खातिर बियर पीनी पड़ी लेकिन उसने सिर्फ आधी बियर ही खत्म की।

विकी सर् एक फुल बियर पी चुके थे उन्हें थोड़ा नशा भी हो गया था ऐसा लग रहा था लेकिन वो अभी भी स्वस्थ लग रहे थे, उन्हों ने बिनल से पूछा “ये बियर तुम नही पीना चाहती तो मुझे दे दो में खत्म कर देता हूं तब तक खाना भी आ जएगा”

बिनल ने कहा ये मेरी जुठी बियर है आप मत पियो दूसरी मंगवलो “ लेकिन वो बोलना खत्म करे उस से पहले विकी सर् ने बिनल की बियर को लेके पिने लगे उसके बियर के ग्लास पे बिनल के लाइट ब्राउन लिपस्टिक के निशान भी थे , विकी सर् के पीने से वो साफ हो गए।

फिर दोनों ने लंच किया और फिर से कार में बैठ गए और आगे बढ़ने लगे। अब दोनों एक दूसरे में जैसे घुल मिल गए थी बिनल पे भी शायद वो बियर का असर था या सच मे वो विकी सर् के साथ बहुत ही कम्फ़र्टेबल महसूस कर रही थी। कार में ऐरकंडिशन फुल था फिर भी विकी सर् को थोड़ा कम्फर्ट नही लग रहा था तो उन्हों ने कहा मुझे शर्ट उतार के स्लीवलेस टीशर्ट पहन लेनी पड़ेगी ड्राइव करने में मजा नही आ रहा।
फिर।उन्हों ने एक जगह कार साइड पे लगाकर शर्ट निकाल के टीशर्ट पहन ली , बिनल ने तब विकी सर् की बॉडी को देख वो जीतने शर्ट में मोटे लगते थे उतने मोटे नही थे लेकिन उनका शरीर कसा हुआ था बिल्कुल सन्नी देओल जैसा , चौड़ी छाती और हाथ भी बड़े बड़े थे। फिर वो दोनों आगे बढ़ने लगे बिनल भी कभी कभी बात बात में विकी सर् के हाथों पे अपना हाथ मार रही थी मजाक करते हुए और विकी सर् भी बिनल की जांघों पे तो कभी कंधो पे हाथ रख देते थे।

शाम होने को थी विकी सर् ने हाईवे छोड़कर शॉर्टकट ले लिया था उस रोड पे बहुत कम ट्रैफ़िक था ओर एक से दो ही वाहन दिख रहे थे वो भी कई घंटों के बाद । बिनल ने पूछ ये कैसा रास्ता है “ विकी सर् ने कहा “ये हम जंगल के रास्ते से जा रहे है जल्दी पोहच जाएंगे रात हो रही है इसीलिए मैंने ये रास्ता चुना है लोनावला तक हम ये रास्ते से जायँगे और नाईट वह पे ही रुकना पड़ेगा कल सुबह फिर गोवा के निकलेंगे।”

बिनल ने कहा “अच्छा “

रास्ते मे कुछ आ नही रह था सिर्फ घने पेड़ और पहाड़ों से भरा रास्ता था न कोई होटेल न कोई घर सुमशाम सड़क थी।
बिनल चुप चाप बेठी हुई थी कुछ बोल नही रही थी , और अपने एक हाथों को अपनी जांघ पे रख के अपनी उंगलियों को टपटपा रही थी।

इतने में विकी सर् ने पूछा क्या हुआ ,कोई प्रॉब्लम है क्यों स्थिर होकर बैठी हो?

बिनल ने कहा “जी “ वो” मुझे”

कहो न क्या बात है ?” विकी सर् ने फिर से पूछा

अब में कैसे बताऊ आपको “ की मुझे” वो” ( बिनल को पैशाब करना था ,बियर पिने से शायद उसे बहुत ही जोरो से लगी थी और नजाने कबसे वो रोके हुए थी)
आखिर उसे रहा नही गया और उसने कहा दिया।

विकी सर् “ I wan to pee “ pleas stop the car.

विकी सर् ने बहुत ही जोर से कार की ब्रेक लगते हुए कार को रोक दिया और बिनल से कहा “ अभी यह पर होटल पे कर लेना था “ बिनल की तरफ देखते हुए कहा।

बिनल ने कहा “ तब मुझे नही लगी थी “

विकी सर् ने कहा “ रात होने को हे और यह पर तो जंगली जानवर भी घूमते रहते है”

बिनल ने कहा “ अरे ऐसे मत डराओ नही तो यही पर हो जाएगी।”

विकी सर् हंसते हुए “ अच्छा बाबा जाओ वहां पेड़ है उसके पीछे चली जाओ”
बिनल ने कहा “ अरे में अकेले नही जा सकती मुझे डर लगता है तुम भी गाड़ी से नीचे उतरो”

विकी सर् मन ही मन खुश हो गये ये सोचकर कि आज बिनल को pee करते हुए देखने को मिलेगा और उसकी योनि को भी देखने को मिलेगा। वो खुशी से निकले और कहा “ अच्छा चलो में भी आता हूं। “

बिनल ने कार में पड़े टिश्यू के बॉक्स से कुछ टिश्यू ले लिए और पेड़ तक नही जाते हुए खुले मैदान में खड़ी हो गई, और विकी सर् से कहा “ सर् आप जरा पलट के खड़े हो जायेंगे तो के कर पाऊंगी “ और विकी सर् बिनल की और पीठ कर के खड़े हो गए।

Updated: July 5, 2018 — 10:44 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme