पड़ोसन के साथ दीवाली मनाई

हेलो फ्रेंड्स.. आज मैं आप सभी के लिए एक नई स्टोरी लेकर आया हूँ. मैं मुंबई का रहने वाला हूँ और यह बात कुछ एक साल पुरानी है. मेरे घर के पास एक बहुत सेक्सी औरत रहती है.. जिसका नाम कविता है. वो दिखने में एकदम ठीक ठाक लगती है.. लेकिन थोड़ी सावलीं है. उसके बूब्स ज्यादा बड़े नहीं है. उसके फिगर का साईज 30-26-30 है और उसकी एक 18 साल की बेटी है.. जिसका नाम खुशबू है. उसका पति क्लब में काम करता है.. वैसे मुझे पता था कि कविता बहुत लोगों से चुदवाती है.. क्योंकि यह बातें मुझे मेरे दोस्तों से पता चली थी. मैं अच्छा दिखता हूँ.. इसलिए वो मुझे बार बार देखती थी और मैं उसे देखता था और हम इधर उधर की बातें करते थे और मैं ज्यादातर उसके बेटे के साथ बेडमिंटन खेला करता हूँ और उसका पति क्लब में काम करने के कारण रात को जल्दी घर नहीं आता था.

तो एक दिन सुबह सुबह ही उन दोनों में किसी बात को लेकर झगड़ा हो रहा था और मैं जैसे ही वहां पर गया तो दोनों चुप हो गये और मैं वहां से चला गया. फिर शाम को जैसे ही उसका पति काम पर गया मैं कविता के घर पर चला गया और फिर उसको पूछा कि क्या हुआ था? तो वो रोने लगी और कहने लगी कि तुम छोटे हो मैं तुम्हें नहीं बता सकती.. फिर मैंने पूछा कि क्या हुआ प्लीज़ बताओ?

कविता : मैंने उनसे कहा कि कल दीवाली है और तुम दिन की छुट्टी ले लो? तो उन्होंने मना कर दिया क्योंकि उनकी नौकरी एक बजे से है.

मैं : नौकरी तो बहुत ज़रूरी है ना.. लेकिन उसमे उनकी क्या गलती है?

कविता : तुम नहीं समझते हो? इसलिए ऐसा बोल रहे हो.

मैं : मैं नहीं समझता वो कौन सी बात है? वैसे भी आपकी गलती है.. जो आप उनको काम पर जाने से रोक रहे हो. सबसे जरूरी काम होता है और कुछ नहीं.

कविता : क्यों और सेक्स जरूरी नहीं है क्या?

तो मैं चुप हो गया और वो भी कुछ देर के लिए चुप हो गई थी.

फिर कविता बोली कि सॉरी.. लेकिन मेरे पति मुझसे सेक्स नहीं करते है और उनको लगता है कि मैं क़िसी और के साथ सेक्स करती हूँ.. क्या तुम्हे यह लगता है की मैं किसी के साथ सेक्स करती हूँ? अब तुम ही बताओ प्रेम? फिर मैं बोला कि जाने दो वो तुमसे बहुत प्यार करता है इसलिए ऐसा शक किया. तो वो बोली कि मैं एक दिन सच में किसी के साथ सेक्स करूंगी.. वो तो क्लब में किसी ना किसी को चोदता ही होगा. फिर मैं क्यों ना करूं? तो मैंने कहा कि ठीक है.. फिर मैंने पूछा कि किससे करोगी? तो वो बोली कि तुम खुद देख लेना. फिर मैंने कहा कि क्या मेरे सामने करोगी? तो वो हंसने लगी और अगले दिन दीवाली की रात वो शाम को क्या मस्त माल लग रही थी? और लाल कलर की साड़ी में वो बहुत सेक्सी लग रही थी. मैं उसके पास गया और उसे घूर घूरकर देखता जा रहा था. फिर वो कहने लगी कि क्या हुआ? मुझे पहले कभी देखा नहीं क्या? तो मैंने कहा कि देखा है.. लेकिन इतना सुंदर नहीं देखा. फिर हम पटाखे चलाने लगे और उसके बाद रात को खाने के बाद सब सोने चले गये और मैं बाहर आया और दो बियर लेकर उसके घर के पास में पी रहा था. तभी अचानक उसके घर का दरवाज़ा खुला और वो मुझे कहने लगी कि अरे प्रेम क्या तुम ड्रिंक करते हो? तो मैंने कहा कि लगातार नहीं.. लेकिन कभी कभी चलता है.

तो उसने कहा कि क्या यह बात तुम्हारे घरवालों को पता है? फिर मैंने कहा कि नहीं इसलिए तो इधर बाहर आकर पी रहा हूँ. फिर उसने कहा कि अच्छा तुम एक काम करो मेरे घर के अंदर चलो वरना तुम्हे कोई देख लेगा. तो मैंने कहा कि ठीक है और उसके बाद मैं उठकर उनके पीछे पीछे उनके घर पर चला गया और मैं बियर पी रहा था. तो उसने बोला कि प्रेम एक बात बोलूं.. मुझे भी बियर पीनी है प्लीज थोड़ी सी मुझे भी दो ना. तो मैंने कहा कि ठीक है और फिर मैंने उनको भी बियर दी और वो पीने लगी.. उसके बाद वो मुझसे बोली कि क्या तुमने कभी सेक्स किया है? तो मैंने कहा कि हाँ किया है.. बहुत सी बार. फिर उसने पूछा कि क्या गर्लफ्रेंड के साथ? तो मैंने कहा कि हाँ और भी बहुत के साथ. फिर वो बोली बहुत अच्छा यार तभी अचानक उसने मुझे बोला कि मैंने तुमसे बोला था कि मैं भी एक दिन सेक्स करूंगी और क्या तुम मेरे साथ सेक्स करोगे? तो मैंने कहा कि ठीक है.. लेकिन तुम्हे कोई प्राब्लम तो नहीं. तो उसने कह दिया कि तुम्हे जो करना है करो. फिर क्या दोस्तों मैंने उसको पकड़ लिया और किस करने लगा और वो भी मुझे पागलों की तरह किस कर रही थी.

फिर उसने अचानक कहा कि रुको एक मिनट में अभी आती हूँ और वो बाथरूम में चली गई और फिर मेक्सी पहनकर बाहर आई और फिर हम किस करने लगे मैं उसके होंठो को चूसे जा रहा था.. वो कुछ अलग ही नशा था. फिर उसने मेरा एक हाथ पकड़कर अपने बूब्स पर रख दिया और मैं ज़ोर ज़ोर से उसके बूब्स दबाने लगा. फिर मैंने उसकी मेक्सी को खोल दिया अब वो सिर्फ़ पेंटी और ब्रा में थी और वो काली कलर की पेंटी में बहुत मस्त लग रही थी. फिर मैं ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स दबा रह था और वो आहहह उहह की आवाज़े निकाल रही थी. फिर मैंने एक हाथ उसकी पेंटी में डाल दिया और उसकी चूत एकदम गरम और गीली थी और मैं ऊपर से ही सहला रहा था. तो मैंने उसकी पेंटी को उतार दिया और फिर मैंने अपनी टी-शर्ट और पेंट को खोल दिया मैं भी अब अंडरवियर में था और धीरे से मैं उसकी चूत के पास अपना मुहं लेकर गया. तो वो बहुत ज़ोर ज़ोर से आवाज़ निकाल रही थी अहहुउ ओइईईई प्लीज़ और ज़ोर से चाटो मेरे पति भी सही ढंग से सेक्स नहीं करते है.. मुझे लगता है कि उनको तो तुमसे सीखना पड़ेगा. फिर 15 मिनट के बाद मैं उठ गया और उसकी चूत ने मेरा पूरा मुहं गीला कर दिया.. लेकिन मुझे बहुत मस्त लग रहा था और उसकी चूत का रस एकदम नमकीन था.

फिर मैं उठा और वो मेरी अंडरवियर उतार कर मेरे लंड को ऊपर हाथ रखकर ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी और कहने लगी कि कितना मोटा लंड है तुम्हारा? और यह कैसे मेरी चूत में जाएगा? मेरा लंड का साईज 6 इंच है और बहुत मोटा भी है और वो धीरे से मेरे लंड को मुहं में लेकर चूसने लगी और मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और 5 मिनट चूसने के बाद कहने लगी कि प्रेम जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में घुसा दो प्लीज.. मुझसे और बर्दाश्त नहीं हो रहा है. तो मैंने उसके दोनों पैर उठाकर अपने कंधे पर रख लिए और अपना लंड उसकी चूत के मुहं के सामने रखा और एक धक्का मार दिया.. मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया और फिर उसे थोड़ा दर्द हुआ और वो ज़ोर से चिल्लाने लगी प्रेम उफफ्फ़ कितना दर्द हो रहा है. तो मैं उसे किस करने लगा और एक हाथ से उसके बूब्स दबा रहा था और फिर जैसे ही थोड़ा दर्द कम हुआ.. मैंने एक और ज़ोर का धक्का मारा और मेरा पूरा लंड चूत के अंदर चला गया और वो आहह प्रेम अब अह्ह्ह इतना मोटा लंड पाकर मुझे बहुत अच्छा लग रहा है.

प्लीज़ तुम मुझे रोज़ आकर चोदा करो.. आह मेरे राजा उहह और मैं धक्के दिए जा रहा था. फिर 3 से 4 मिनट के बाद मैंने उसको कहा कि तुम डॉगी स्टाईल में हो जाओ और फिर वो हो गयी और फिर मैंने उसे डॉगी स्टाईल में चोदने के बाद वो भी झड़ गयी और मैं भी उसकी चूत में झड़ गया और वो बाथरूम में चली गई मैंने देखा कि उसकी बेटी खुशबु जाग रही है और यह सब देख रही.. लेकिन मुझे देखकर अपनी आंख बंद करके सोने का नाटक करने लगी. फिर मैंने उस रात उसको तीन बार चोदा ..

 

 

Madhu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *