रिश्तों में चुदाई का आनंद -1

desi sex stories हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है, में सूरत शहर का रहने वाला हूँ। में कामुकता डॉट कॉम का नियमित पाठक हूँ। मेरी उम्र अभी 23 साल है, में अभी टेक्सटाइल कंपनी में जॉब कर रहा हूँ, मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है, मेरे लंड का साईज़ नहीं ज़्यादा बड़ा है और नहीं ज़्यादा मोटा है, मेरे लंड का साईज़ 7 इंच के करीब है और मोटाई 3 इंच है। आज में आप लोगों को अपनी दूसरी स्टोरी सुनाता हूँ, जो मैंने अपनी कज़िन रीता के साथ किया था। यह मेरी रियल स्टोरी है और में अपनी स्टोरी दूसरी बार लिख रहा हूँ।

ये बात आज से 3 पहले की है, उसका नाम रीता है, उसकी हाईट भी मुझसे थोड़ी कम है, वो ज़्यादा गोरी तो नहीं, लेकिन थोड़ी साँवली है, लेकिन उसके बूब्स का साईज़ 32 है और वो शरीर से थोड़ी मोटी लगती है, उसकी गांड भी बहुत मस्त है। मेरा दिल तो करता है की उसे सहलाता ही रहूँ और हमेशा उसकी गांड में अपना लंड डाले रखूं। में और वो साथ-साथ एक ही कॉलेज में पढ़ते थे, तो उसी वक़्त मुझे उससे प्यार हो गया और उसे भी मुझसे प्यार हो गया था। वो रिलेशन में मेरी कज़िन बहन लगती थी, लेकिन एक ही उम्र होने के कारण वो हमेशा मुझे नाम से बुलाती थी। फिर एक दिन की बात है मेरी दूसरी कज़िन बहन की शादी थी, तो में और रीता (मेरी बुआ), कज़िन बहन और जीजाजी के साथ अपनी बुआ के गाँव जा रहा था। हम गाँव ट्रेन से गये थे, लेकिन गाँव स्टेशन से 3 किलोमीटर दूर था तो बुआ ने गाँव से बैलगाड़ी का इंतज़ाम किया था।

अब जब हम सब लोग बैलगाड़ी पर जा रहे थे, तो वो मुझे जीजाजी के साथ मिलकर छेड़ने लगी। अब में बुआ और कज़िन बहन होने के कारण चुप था, लेकिन में जीजाजी को रिप्लाई दे रहा था। फिर कुछ दूर जाने के बाद वो मुझे चिमटी काटने लगी, तो कभी वो मेरी बाह में चिमटी काटती, तो कभी मेरी कमर में चिमटी काटती। अब में क्या करता? तो मैंने बुआ और बहन को बोला तो बुआ ने उसे डांट दिया, तो फिर उसने चिमटी काटना बंद कर दी। लेकिन कुछ देर के बाद वो फिर से मुझे चिमटी काटने लगी, तो फिर में भी उसको कभी-कभी उसकी बाहों में जाकर चिमटी काट लेता था। अब ऐसे करते-करते हम गाँव पहुँच गये थे, फिर हम सब बैलगाड़ी से उतरे और घर में गये। फिर में सीधा ऊपर पहले फ्लोर पर चला गया तो कुछ देर के बाद वो भी कोई काम से ऊपर आ गई और फिर से मुझे चिमटी काटने लगी।

अब मुझसे रहा नहीं गया और फिर मैंने पहली बार उसकी बाहों में चिमटी काटी तो वो कुछ नहीं बोली। फिर मैंने उसके गाल पर चिमटी काटी, तो वो फिर भी कुछ नहीं बोली। फिर मैंने हिम्मत करके उसकी समीज के ऊपर से ही उसके बूब्स पर चिमटी काटी, तो वो कुछ नहीं बोली, तो में समझ गया कि यह लड़की अपनी चूत देने वाली है। फिर में उसकी समीज के ऊपर से ही उसके बूब्स प्रेस करते हुए उसे रूम में ले गया और बेड पर पटक दिया। फिर मैंने उसके लिप्स की किस ली और कम से कम 5 मिनट तक उसके लिप्स पर किस लेता रहा और उसके बूब्स को सक करने लगा। तो अब वो कुछ नहीं बोल रही थी और सिर्फ़ मुझे अपनी बाहों में कसे हुए थी। फिर में उसकी समीज को थोड़ा ऊपर करके उसके बूब्स को सक करता रहा और उसके दोनों बूब्स को बारी-बारी से सक करता रहा, तो कभी उसके लिप्स पर किस लेता, तो कभी उसके बूब्स सक करता और अपने एक हाथ से उसके दूसरे बूब्स को दबा रहा था, तो अपने दूसरे हाथ से उसकी चूत में उंगली कर रहा था।

अब उसकी चूत गीली हो चुकी थी, उसने पेंटी नहीं पहन रखी थी, तो मेरी उंगली आसानी से उसकी सलवार के ऊपर से ही उसकी चूत में जा रही थी। अब वो बहुत ज़ोर-जोर से मौन कर रही थी आआअह, उूउऊहह, हहाआआ और सक करो, आआआआआअहह आआआआआआ और जोर से, अब वो ज़ोर-ज़ोर से चिल्ला रही थी। फिर मैंने उसके बूब्स को सक करना छोड़कर उसके लिप्स पर किस लेना शुरू कर दिया, क्योंकि वो बहुत ज़ोर-जोर से मौन कर रही थी। अब मुझे डर भी लग रहा था कि कहीं नीचे बुआ और बहन नहीं सुन ले। फिर मैंने दरवाजा लॉक किया और फिर से उसके बूब्स प्रेस करना शुरू किया और सक करना शुरू किया, तो कुछ देर के बाद वो फिर से गर्म हो गई। फिर मैंने अपनी पेंट खोली और अपना लंड उसके हाथ में थमा दिया। अब मेरा लंड तनकर पूरा 90 डिग्री का हो गया था तो मैंने अपना लंड उसके हाथों पकड़ा दिया, तो वो पहले तो थोड़ी शरमाई, लेकिन कुछ देर के बाद जब मैंने फिर से उसे मेरा लंड पकड़ाया, तो उसने मेरा लंड पकड़ लिया।

फिर मैंने उससे बोला कि इसे सहलाओ और आगे पीछे करो, तो वो वैसा ही करने लगी। तो फिर मैंने उसकी चूत में अपनी एक उंगली डाल दी, तो वो ज़ोर-जोर से मौन करने लगी आआआआआआअहह। फिर जब मैंने उसकी चूत में मेरी उंगली की तो वो मेरे लंड को ज़ोर-जोर से आगे पीछे करने लगी और ज़ोर-जोर से मौन करने लगी थी। फिर मैंने कुछ देर के बाद उसकी सलवार भी उतार दी, वाह क्या चूत थी? अब उसकी चूत पूरी भीगी हुई थी, उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और ऐसा लगता था कि उसने आज कल में ही शेव किया हो, उसकी चूत पूरी पाव रोटी की तरह फूली हुई थी। फिर मैंने उसे अपना लंड सक करने के लिए बोला तो उसने मना कर दिया। तो मैंने उससे बोला कि कुछ नहीं होता, तो वो बोल रही थी कि नहीं मुझे घिन आ रही है। फिर मैंने उसकी चूत को चूसना शुरू कर दिया, तो वो चिल्लाने लगी आआआआआहह।

Updated: October 30, 2018 — 11:07 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: