रिया की चूत से खून -1

hindi sex kahani हैल्लो दोस्तों, ये मेरी फर्स्ट स्टोरी है, मेरा नाम प्रेम है और में हॉट पर्सनॅलिटी वाला 22 साल 5 फुट 10 इंच का मस्त बॉय हूँ। मुझे लड़कियों से दोस्ती करने का शौक है। अब में आपको ज़्यादा बोर नहीं करता हूँ और अपनी मस्त स्टोरी आप सभी मस्त दोस्तों को बताता हूँ। ये बात मेरे ही होम टाउन पटना की है, जब में अपना आई.टी कोर्स कंप्लीट करके अपने घर (पटना) आया हुआ था। तो जब में शाम को अपनी छत पर गया तो मैंने देखा कि एक 17-18 साल की लड़की मेरी सामने वाली छत पर खड़ी थी। मैंने उसे वहाँ पहली बार देखा था, उसने स्कर्ट और टॉप पहनी हुई थी, उसका टॉप टाईट होने के कारण उसके बूब्स और छोटे-छोटे निपल्स उभरकर दिख रहे थे। अब मेरी नज़र बार-बार उसके बूब्स पर जा रही थी, वो दिखने में काफ़ी सुंदर लग रही थी, उसकी हाईट 5 फुट 2 इंच होगी और उसके बाल काफ़ी लंबे थे और उसका बदन काफ़ी भरापूरा था, उसके गाल एकदम गुलाबी और बदन पूरा मिल्की था।

अब उसे देखकर मेरे मन में एक अजीब सी मस्ती चढ़ रही थी, तो उसी समय मेरी माँ छत पर आई, तो मैंने अपनी नज़र दूसरी तरफ कर ली। फिर मैंने मेरी माँ से पूछा कि सामने वाले घर में कोई नया पड़ोसी आया है क्या? तो माँ ने बताया कि हाँ एक नया परिवार राँची से आया है, उसके घर में पति, पत्नी और एक बेटी है और वो लोग कभी-कभी अपने घर पर भी आते है, उसकी बेटी कंप्यूटर में काफ़ी इंट्रेस्टेड है और जब भी वो हमारे घर आती है, तो तुम्हारा कंप्यूटर स्टार्ट करके कुछ ना कुछ करती रहती है और पूछती थी कि ये कंप्यूटर किसका है? तो तब मैंने उसे बताया कि ये कंप्यूटर मेरे बेटे प्रेम का है और वो दिल्ली में कंप्यूटर कोर्स करने गया है।

फिर दूसरे ही दिन वो लड़की मेरे घर पर आई और वो सीधे मेरे रूम में आ गयी, लेकिन जैसे ही उसने मुझे देखा तो वो एकदम से रुक गयी और शर्मा गयी, क्योंकि उस समय में अपने रूम में कपड़े चेंज कर रहा था। अब में भी उसको अपने रूम में देखकर अजीब सा महसूस कर रहा था। फिर मैंने उससे पूछा कि तुम्हारा परिचय? तो वो अपनी मीठी सी आवाज़ में बोली कि जी मेरा नाम रिया है, में आपके सामने वाले घर में रहती हूँ। फिर मैंने उससे बैठने को कहा, उस समय मेरी माँ सो रही थी और घर में कोई नहीं था। फिर मैंने उसको अपना परिचय दिया और पूछा कि तुम मेरे रूम में क्यों आई हो? तो वो बोली कि जी मुझे कंप्यूटर में इंटरेस्ट है तो मैंने सोचा कि आपके कंप्यूटर पर कुछ सीख लूँ, इसके लिए मैंने आपकी मम्मी से भी इजाजत ले रखी है और मैंने समझा कि आप अभी दिल्ली में ही है इसलिए में आपके कमरे में आ गयी, अच्छा अब में जाती हूँ। तो मैंने बोला कि क्यों कंप्यूटर नहीं सीखना है?

तो वो बोली कि जी सीखना तो चाहती हूँ, लेकिन शायद अब आपको अच्छा ना लगे। तो मैंने बोला कि नहीं रिया ऐसी कोई बात नहीं है तुम मेरा कंप्यूटर यूज़ कर सकती हो और चाहो तो में तुम्हारी इसमें कुछ मदद भी कर सकता हूँ। तो वो मेरी बात सुनकर खुश हो गयी और बोली कि आप सच में मुझे कंप्यूटर सिखाएँगे, तो मैंने कहा कि क्यों नहीं? अब मुझे भी तो उससे बात और उसे करीब से देखने का एक बहाना चाहिए था। तो उसने झट से मेरे कंप्यूटर को ऑन कर लिया और पूछा कि मुझे सबसे पहले कंप्यूटर सीखने के लिए क्या करना चाहिए? तो मैंने बोला कि सबसे पहले तुमको माउस और की-बोर्ड चलाना सीखना होगा। अब उससे माउस नहीं चल पा रहा था, तो मैंने उसके हाथ पर अपना हाथ रखकर माउस को मूव करना सीखाया, उसके हाथ बहुत मुलायम थे। अब में उसके पीछे खड़ा होकर उसे माउस चलाना सीखा रहा था, तो कभी-कभी उसकी जुल्फे मेरे चेहरे पर उड़कर आ जाती थी। अब मुझे काफ़ी अच्छा लग रहा था, अब मेरा मन कर रहा था कि उसको अपनी बाँहों में ले लूँ और जी भरकर किस करूँ।

उस समय उसने स्कर्ट और हाफ टॉप पहनी हुई थी। अब मुझे उसकी गोरी-गोरी जांघे साफ-साफ़ दिख रही थी और उसके टॉप से उसकी गोल-गोल चूचीयाँ भी साफ़-साफ़ दिख रही थी। अब में बहुत मस्त हो रहा था, फिर जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने धीरे से उसके बगल में बैठकर उसकी जाँघ पर अपना हाथ रख दिया, तो मुझे ऐसा लगा जैसे मेरा हाथ किसी मखमल पर है और फिसलता जा रहा है, क्योंकि उसकी जाँघे बहुत ही चिकनी थी और फिर मैंने धीरे-धीरे उसकी जाँघो को सहलाना शुरू किया। अब शायद वो कंप्यूटर पर व्यस्त थी इसलिए उसको पता नहीं चल रहा था। फिर उसी समय मेरी माँ रूम में आ गयी, तो मैंने जल्दी से अपना हाथ हटा लिया। फिर माँ बोली कि प्रेम रिया को कंप्यूटर सीखा देना, वो कंप्यूटर में इंट्रेस्टेड है, में मार्केट जा रही हूँ 2-3 घटे के बाद आ जाउंगी, तुम गेट बंद कर लेना।

अब मुझे तो एक अच्छा मौका मिल गया था, अब मेरे घर में सिर्फ़ हम दोनों ही थे। फिर उसी समय रिया रूम से बाहर आ गयी और बोली कि में भी जा रही हूँ, बाद में आ जाउंगी। तो मैंने बोला कि अरे रूको रिया, क्या कंप्यूटर नहीं सीखोगी? चलो तुम्हें कंप्यूटर में लेटेस्ट चीज सिखाता हूँ। तो वो बोली कि लेटेस्ट चीज, ये लेटेस्ट चीज कंप्यूटर क्या होती है? फिर मैंने अपनी एक पर्सनल फाईल खोली तो उसमें कुछ हॉट सेक्सी फोटो थे। तो वो उसे देखकर शर्मा गयी और बोली कि ये आप मुझे क्या दिखा रहे है? तो मैंने बोला कि अरे रिया यही तो लेटेस्ट चीज है, तुमको अच्छा नहीं लगा क्या? तो वो चुप रही। फिर मैंने धीरे से अपने एक हाथ से उसके गालो को छुआ और बोला कि तुम्हारे गाल बहुत ही चिकने है रिया और फिर उसके होंठो को धीरे-धीरे सहलाया। अब मुझे बड़ा ही मजा आ रहा था क्योंकि उसके होंठ बहुत मुलायम थे। फिर मैंने उससे पूछा कि क्या यह लेटेस्ट चीज तुमको अच्छी नहीं लग रही है रिया? तो रिया धीरे से बोली कि अच्छी तो लग रही है, लेकिन डर भी लग रहा है।

फिर मैंने बोला कि अरे रिया इसमें डरने की क्या बात है? तुम तो कंप्यूटर पर लेटेस्ट चीज सीख रही हो, तुम मेरी बाँहों में आ जाओं फिर तुमको डर नहीं लगेगा, तो वो मेरी बाँहों में आ गयी। अब उसके दोनों गोल-गोल बूब्स मेरे सीने से चिपक रहे थे। फिर मैंने थोड़ा और ज़ोर से उसे अपनी बाँहों में दबाया, तो अब उसके दोनों बूब्स मेरे सीने में दबे जा रहे थे, अब उसे भी अच्छा लग रहा था। फिर में उसके होंठो को अपनी जीभ से चाटने लगा, अब उसकी साँसे तेज हो रही थी, तो मुझे लगा कि अब उसे बेड पर ले जाने का सही मौका है। फिर में उसको अपनी गोद में उठाकर बेड पर ले गया और सीधा लेटा दिया, तो उसने अपनी दोनों टांगो को मोड़ लिया, जिससे मुझे उसकी स्कर्ट के नीचे भी दिखने लगा, उसने नीचे रेड पेंटी पहनी हुई थी। अब उसकी पेंटी देखकर मेरा 6 इंच का लंड अब 9 इंच का हो गया था और मेरे खून की रफ़्तार तेज हो गयी थी।

Updated: November 30, 2018 — 11:54 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: