रिया की चूत से खून -2

sex stories in hindi अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था इसलिए मैंने बिना कुछ सोचे उसके दोनों बूब्स को अपने दोनों हाथों में लेकर दबाने लगा, उसके ब्बुब्स ज़्यादा बड़े तो नहीं थे फिर भी बहुत ही सुंदर और गोल गोल थे। अब उसके दोनों बूब्स मेरे दोनों हाथों में पूरी तरह से आ रहे थे और में अपने दोनों हाथों से ज़ोर-ज़ोर से दबाता चला जा रहा था। अब रिया लंबी-लंबी सांसे ले रही थी और अहह म्‍म्म्ममममममम उूउउउउ की आवाज़ उसके मुँह से आ रही थी, प्रेम धीरे दबाओं, मुझे दर्द हो रहा है। तो मैंने बोला कि रिया इस दर्द में भी तुम्हें मजा आएगा और फिर मैंने उसकी टॉप खोल दी, तो उसने अंदर कुछ नहीं पहना हुआ था। अब उसके दोनों बूब्स लाल हो गये थे और उसके दो छोटे-छोटे निपल टाईट हो गये थे, उसके गोरे-गोरे बदन पर लाल हो चुके बूब्स बहुत ही सेक्सी दिख रहे थे, उसके होंठ और गाल एकदम गुलाबी थे। फिर मैंने अपनी पूरी जीभ से उसके पूरे फेस को चाटा, तो उसका पूरा चेहरा गीला हो गया, फिर मैंने उसके होंठो को अपने होंठो से चूसना चालू किया।

अब वो भी मेरा साथ देने लगी थी और अपनी जीभ मेरी जीभ से मिलाकर चाटने लगी थी। अब में उसे अच्छी तरह से चूस रहा था और उसके बूब्स को ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था। अब उसके दोनों बूब्स और खड़े हो गये थे। फिर में उसके निप्पल को अपने दातों से दबाने लगा, तो वो सिहरने लगी प्लीज ऐसा नहीं करो, बहुत दर्द हो रहा है आआआआआअम्म्म्मममममममममह और चिल्लाने लगी। लेकिन जब घर में कोई नहीं था इसलिए उसकी आवाज़ दर्द की चिंता किए बगैर और ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी और मुझे धकेलकर हटा दिया और बोली कि प्रेम मेरी चूची है कोई रसगुल्ला नहीं है कि तुम इसको खा ही जाओं, बहुत दर्द करता है। तो में बोला कि अरे रिया तुम्हारे बूब्स है ही ऐसे कि दिल करता है खा ही जाऊं। अब उसको भी सेक्स का खुमार चढ़ चुका था तो उसने मेरे कपड़े खोल डाले और अपना स्कर्ट भी खोल दिया।

अब वो मेरे लंड को देखकर हैरान चकित थी प्रेम तेरा लंड तो बहुत बड़ा है यार। तो मैंने बोला कि अरे नहीं रिया सिर्फ़ देखने में ये बड़ा लगता है, लेकिन जब ये तेरी चूत में डालूँगा, तो तुमको छोटा ही लगेगा। तो वो बोली कि सच में प्रेम, तो मैंने बोला कि हाँ रिया, तो वो बोली कि मेरी चूत तो बहुत ही छोटी है प्रेम, उसमें ये तुम्हारा हथोड़ा जैसा लंड कैसे जाएगा? तो मैंने बोला कि रिया जान जो चीज जितनी छोटी होती है, वो उतना ही मोटा खाती है। फिर मैंने उसकी पिंक पेंटी भी खोल डाली, श मेरी इस कहानी को पढ़ने वाले दोस्तों उसकी चूत के बारे में क्या बताऊँ? सच में उसकी चूत बहुत छोटी थी और फूली हुई थी, मैंने ऐसी प्यारी चूत आज तक नहीं देखी थी। अब उसकी चूत को देखकर मेरे लंड और मुँह दोनों में पानी भर गया था और फिर में कुत्तों की तरह उसकी चूत को चाटने लगा। उसकी चूत में अजीब तरह की मनमोहक खुशबू थी और उतनी ही टेस्टी थी, जिसने मुझे कुत्तों की तरह चाटने पर विवश कर दिया था।

अब उसको भी अपनी चूत चटवाने में बड़ा मजा आ रहा था और अब वो अपने चूतड़ को उठा-उठाकर अपनी चूत को चटवा रही थी और आहहहहहह हाईईईईईई उहहहहहह की आवाजे अपने मुँह से निकाल रही थी। फिर करीब 10 मिनट तक उसकी चूत चाटने के बाद उसने मेरा लंड अपने हाथों में लिया और उसे सहलाने लगी और फिर अपने मुँह में डालकर लॉलीपोप की तरह चूसने लगी। अब में भी अपनी दो उँगलियाँ उसकी चूत में डालकर अंदर बाहर करने लगा था, अब उसकी चूत गीली हो गयी थी। फिर वो 15 मिनट तक मेरे लंड को चूसने के बाद बोली कि प्रेम अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है प्लीज, अब मुझे चोदो। अब में भी रिया को चोदने के लिए बिल्कुल तैयार था और फिर मैंने भी बिना देर किए उसकी दोनों टांगो को फैला दिया और अपना 9 इंच का लंड का सूपड़ा उसकी चूत पर रखकर एक धक्का मारा। तो रिया चिल्ला उठी प्रेम प्लीज छोड़ दो, बहुत दर्द हो रहा है, म्‍म्म्ममम आआआम्‍म्म। शायद उसकी चूत की चुदाई पहली बार हो रही थी इसलिए उसे ज्याद दर्द हो रहा था, लेकिन अब में कहाँ रुकने वाला था?

फिर मैंने एक और ज़ोर से धक्का मारा तो मेरा सुपाड़ा उसकी चूत में चला गया, लेकिन रिया दर्द से कहराने लगी और देखा तो उसकी चूत से ब्लडिंग हो रही थी, तो मैंने उसकी चूत में से अपने लंड को बाहर निकाल लिया। अब रिया की आँखों में आँसू आ गये थे, लेकिन मैंने उसका हौसला बढ़ाया और कहा कि पहली चुदाई में खून तो निकलता ही है जितना ज़्यादा खून निकलेगा उतना ही तुमको मजा आएगा। फिर मैंने उसकी पेंटी से उसकी चूत से निकल रहे खून को साफ किया और गुलाबजल लाकर उसकी चूत के चारों तरफ लगाकर अपने लंड पर भी लगा लिया, अब रिया का कुछ दर्द कम हो गया था। फिर मैंने उसके पूरे जिस्म को अपनी जीभ से चाटा, तो अब उसको फिर से अच्छा लगने लगा था और वो भी मेरा साथ देने लगी।

फिर इस बार मैंने रिया की दोनों टांगो को ऊपर उठाकर उसकी चूत पर अपना सूपड़ा रखकर एक जोरदार धक्का दिया, तो इस बार एक ही बार में मेरा पूरा सुपाड़ा उसकी चूत में घुस गया। तो रिया धीरे से चिल्लाई अहह माँ ऊऊओह, तो मैंने फिर से एक और धक्का दिया तो इस बार मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया। तो रिया बोली कि प्रेम मुझे तुम्हारे लंड ने बहुत दर्द दिया है अब मुझे इसका मजा दो, म्‍म्म्ममममममम आआआआअहह ओह, तो फिर में भी ज़ोर-ज़ोर से उसकी चूत में अपना लंड अंदर बाहर करने लगा। अब रिया भी अपनी गांड उठा-उठाकर चुदवाने लगी थी, अब उसका जोश सातवें आसमान पर था, प्रेम प्लीज और ज़ोर से चोदो और ज़ोर से। अब उसकी चूत में से पानी निकलने लगा था और वो मुझे ज़ोर से जकड़ने लगी थी, तो में भी उसकी चूत में अपना लंड मस्ती से अंदर बाहर कर रहा था। अब रिया झड़ चुकी थी और में भी झड़ने वाला था तो मैंने अपने धक्के और तेज कर दिए और ऐसा लगा कि आज उसकी छोटी चूत को फाड़ ही दूँ। फिर थोड़ी देर के बाद मेरा पूरा वीर्य उसकी चूत में भर गया, फिर हम दोनों 10 मिनट तक वैसे ही एक दूसरे से चिपके रहे। फिर रिया बोली कि प्रेम तुम्हारी लेटेस्ट चीज को सीखने में तो बहुत ही मजा आया, अब में रोज तुमसे कुछ लेटेस्ट चीज सीखूंगी। अब उसकी चूत मेरी मस्त चुदाई से पूरी तरह से फूल गयी थी, अब उसको चलने में भी दिक्कत हो रही थी। अब वो मेरी लेटेस्ट चुदाई से बहुत खुश थी और फिर रिया अपने कपड़े पहनकर अपने घर चली गयी।

Updated: November 30, 2018 — 11:54 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: