वो पहली चुदाई

sex stories in hindi प्यारे दोस्तो, यह मेरी पहली कहानी है, उम्मीद करता हूँ कि आपको पसंद आएगी।
वैसे तो मैंने कई चूतें फाड़ दी है लेकिन मुझे याद है वो पहली चुदाई जब मैंने रीना नाम की लड़की को चोदा वो मेरी पहली चुदाई थी।

पहले मैं आपको रीना के बारे मे बता दूं |
रीना का कद ५’६ होगा ओर उसका फिगर करीब ३२-२८-३२ वो देखने मे किसी पारी से कम नही लगती थी|
रीना ओर मैं एक ही स्टेडियम मे आते थे|
रीना भी अथलेटिक्स के लिए आती थी ओर मैं भी असे ही बॉडी फिट रखने के लिए जाता था|
असे ही देखते देखते हम दोनो की नज़रें मिल गई |

ओर एक दिन मैने उस से उसका नाम पूछ लिया ओर उसने भी तपाक से अपना नाम बता दिया|
फिर कुछ दिनों तक ऐसे ही हमारी बातें होती रही उसके बात करने के तरीके से मुझे लगने लगा था की वो भी मुझे पसंद करने लगी थी|
एक दिन ऐसे ही मैने कहीं घूमने का मन बनाया तो मैने ऐसे ही रीना से भी पूछ लिया तो उसने भी चलने के लिए हाँ कर दी |
हम दोनो मेरी बाइक पे निकल पड़े, रास्ते मे वो मेरे से चिपक रही थी ओर उसके उभार मेरी पीठ मे चुभ रहे थे ओर मुझे उत्तेजित कर रहे थे|
फिर मैने एक अच्छी सी जगह देख कर बाइक रोक दी|
हम दोनो बाइक से उतर कर बातें करने लगें वो बोले जा रही थी ओर मैं उसको सुन रहा था |
फिर मैने उसका हाथ पकड़ लिया ओर वो चुप हो गई हम दोनो एक दूसरे की आखों मे खो गए, करीब ५ मिनिट बाद मुझे होस आया | फिर मैने उसका हाथ पकड़े पकड़े ही उसको आइ लव यू बोल दिया|
मेरे आइ लव यू बोलते ही वो मेरे गले लग गए ओर बोली मोनू कितने दिन लगा दिए तुमने मुझे ये बोलने मे|
फिर उसने अपने होठ मेरे होठों पे रख दिए ओर करीब ५-६ मिनिट तक हम दोनो एक दूसरे के होतो को चूमते रहे|
वहाँ हम ज़्यादा देर तक नही रुक सकते थे क्योकि किसी के आने का डर था|
इसलिए हम वहाँ से चल पड़े, आते टाइम हम दोनो किसी से कुछ नही बोला फिर मैने उसको जहाँ से पिक किया था वही पे ड्रॉप कर दिया ओर बाय बोल के चला गया|
रात को उसका फोन आया ओर हमने खूब सारी बातें की ओर वो बोली की मुझे मिलना है|
फिर हम दोनो मिलने का प्लान बनाने लगे, लेकिन कहीं भी कोए जगह नही मिल रही थी|
फिर एक दिन मेरे घर वालों को मेरे भाई के जाना पड़ गया ओर वो लोग चल गये अब मैं अकेला घर पे बच गया, तो मैने रीना को फोन करके बताया तो वो खुशी से चिल्ला पड़ी|
फिर उसने घर वालों को झूठ बोला की अपनी दोस्त के पास जा रही है ओर वो मेरे घर आ गई|
ओर आते ही मेरे गले से चिपक गई ओर मुझे चूमने लगी मैने भी उसके होठों का रस-पान करने लगा, मैने बीच मे रुक कर गेट को लॉक किया ओर फिर से उसके होठों को चूमने लगा ओर उसके होठों को चूमते चूमते ही मेरे रूम मे ले गया मेरा रूम हमारे मेन गेट के बिकुल ही पास था|
मेरे रूम मे जाने के बाद मैने उसको मेरे बेड पे लिटा दिया ओर उसके उपर जाके उसके होतो को चूमने लगा|
तो वो बोली की यही करते रहोगे या फिर कुछ ओर करने का भी इरादा है|
फिर मैने उसके कपड़े उतारने शुरू कर दिए, अब वो मेरे सामने केवल ब्रा ओर पॅंटी मे ही लेती हुई थी|
फिर मैं उसके बुब्स को दबाने लगा उसे भी मज़ा आ रहा था|
थोरी देर बाद वो बोलने लगी मोनू प्लीज़ तोड़ा कस कर दबाओ ना ओर फिर मैने उसकी ब्रा भी निकाल दी
अब वो मेरे सामने केवल पेंटी मे ही लेटी हुई थी|
मैने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए ओर अपना लॅंड उसके हाथ मे दे दिया अब वो लॅंड के साथ ओर मैं उसके बुब्स के साथ खेलने लगे|
फिर मैने अपना हाथ उसकी चूत पे रख दिया तो वो एक दम सहम गई ओर मेरे लॅंड के साथ खेलना बंद कर दिया ओर सिसकारिया भरने लगी|

फिर मैने एक उंगली उसकी चूत मे दल दी, वो चिहुक उठी|
मैं उंगली को धीरे धीरे उसकी चूत मे आगे पिछे करने लगा उसका मज़ा आ रहा था|
थोड़ी देर बाद वो बोली मोनू बस करो अब बर्दास्त नही होता|
तो मैने अपनी उंगली उसकी चूत मे से निकल ली ओर अपना लॅंड उसके मूह मे डाल दिया तो वो मेरे लॅंड के साथ असे खेल रही थी जसे काफ़ी पुरानी खिलाड़ी हो|
थोरी देर बाद मैने अपना लॅंड उसके मूह मे से निकल लिया| ओर उसकी चूत के सुपारे पे रख दिया|
ओर एक ही झटके मे आधा लॅंड उसकी चूत मे डाल दिया, ओर लगातार दूसरा झटका भी मार दिया |
मैने अपना लण्ड जोर डाल कर पूरा घुसा डाला| रीना ने जोर से मस्ती में अपनी आंखें बन्द कर ली। उसके जबड़े उभर आये … मुख खुला का खुला रह गया।
मैं थोड़ा सा रुक गया ओर फिर धीरे धीरे अपने लॅंड को उसकी चूत मे आगे पीछे करने लगा|
रीना मस्ती में पागल हुई जा रही थी।
मैं भी इसी आनन्द में डूबा हुआ था। मेरा मोटा लण्ड रीना को दूसरी दुनिया की सैर करवा रहा था। हम दोनों आपस में गुंथे हुये थे, रीना की चूत की कस कर पिटाई हो रही थी।
वो तो और जोर से अपनी चूत पिटवाना चाह रही थी। रीना के दांत भिंचे हुए थे, चेहरा बिगड़ा हुआ था, आंखें बन्द थी, जबड़े बाहर निकले हुये थे … मेरे हाथ उसके कड़े स्तनों का मर्दन कर रहे थे।
रीना का नशा आखिर चूत का पानी बन कर बह निकला।
लेकिन मैं मैं अभी भी उसका चूत के मज़े ले रहा था|
थोरी देर बाद वो फिर से अपनी गाण्ड उछालने लगी ओर फिर से मज़े लेने लगी|
करीब ७-८ मिनिट बाद मेरा भी निकालने वाला था तो मैने रीना से पूछा की कहा निकालु तो वो कहने लगी की मेरी चूत मे ही निकल दो मैं एस्को अपनी चूत मे ही महसूस करना चाहती हूँ|
मैं लगातार ६-७ झटको के साथ ही उसकी चूत मे झड़ गया| ओर रीना के उपर ही लेट गया|
थोरी देर बाद हम दोनो उठे ओर मैने अपने लंड ओर उसने अपनी चूत की सफाई की|
फिर थोरी देर बाद हमने बाते करते करते कुछ खाया . . .

Updated: March 10, 2019 — 9:44 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme
error: